Blog By Amit Tripathi

19 अग॰ 2021

जल संरक्षण हिन्दी में | Water Conservation Essay Hindi

 जल संरक्षण हिन्दी में | Water Conservation Essay

आज की इस पोस्ट में हम जल संरक्षण यानी Water Conservation (Jal Sanrakshan in Hindi) के बारे में विस्तार से बात करने वाले हैं.

Jal Sanrakshan in Hindi

Water Conservation (Jal Sanrakshan in Hindi)

पानी एक सार्वभौमिक तरल पदार्थ है जो रंगहीन और गंधहीन होता है। इसे एक सार्वभौमिक विलायक भी कहा जाता है।

संरक्षण का अर्थ है किसी चीज का प्रभावी ढंग से उपयोग करने या उसे नष्ट होने से बचाने का एक तरीका। इसलिए, जल संरक्षण का मतलब है पानी की बर्बादी को रोकने के लिए सही तरीके से पानी का उपयोग करना।

मनुष्य के लिए जल का बहुत महत्व है क्योंकि यह अस्तित्व के लिए आवश्यक है। इसलिए पानी की बर्बादी को रोकने के लिए इसका उचित तरीके से उपयोग करना होगा। यह वर्तमान में मनुष्य के सामने एक महत्वपूर्ण मुद्दा है। पीने योग्य पानी की उपलब्धता धीरे-धीरे कम हो रही है।

जल संरक्षण क्यों जरूरी है?

जल जीवन का समर्थन करने वाली आवश्यक वस्तुओं में से एक है। सभी जीवों को पीने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। साथ ही धुलाई और सफाई के लिए भी पानी बहुत जरूरी है। खाना पकाने में भी पर्याप्त मात्रा में पानी की आवश्यकता होती है। इसलिए यह बिल्कुल सच है की पानी के बिना जिन्दा रहना नामुनकिन है।

यही कारण है की जल संरक्षण बहुत ही जरूरी है. घरेलू उपयोग, कृषि और व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए पानी उपलब्ध कराने का जल संरक्षण ही एकमात्र तरीका है।

जल संरक्षण के उपाय

  • पानी का उपयोग उतना ही करना चाहिए जितना जरूरी हो। बेकार में बहते हुए पानी को बहने से रोकना चाहिए।
  • बारिश के पानी का संग्रहण: बागवानी, धुलाई आदि कामों के लिए बारिश के पानी को उपयोग किया जा सकता है, इसलिए बारिश के पानी का संग्रहण किया जाना चाहिए।
  • जल पुनर्चक्रण यानि वाटर रीसाइक्लिंग करनी चाहिए।
  • लीक होते नल और पाइपों को तुरंत ठीक किया जाना चाहिए।

निष्कर्ष

जल संरक्षण महत्वपूर्ण है क्योंकि यह मानव अस्तित्व के लिए आवश्यक है। यह एक ऐसा मुद्दा है जिसे जीवन को सुचारू रूप से चलाने के लिए गंभीरता से लिया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें - 
Share:

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

Join Us On Telegram

Join Us On Telegram
Stay Updated

LIKE US ON FB

Popular Posts