A Hindi Blog About Motivation,Earn Money Online and New Technology

4 Apr 2017

सात अजूबे - Hindi Short Story With Moral

सात अजूबे - Hindi Short Story With Moral

रिचा 9 साल की एक छोटी लड़की थी जो गाँव में रहती थी। उसने Class 4th तक की पढ़ाई अपने ही गाँव के स्कूल से की और Class 5th से उसे गाँव के पास शहर में एक अच्छे स्कूल में दाखिला मिल गया। वह बहुत खुश थी की उसे शहर के प्रमुख स्कूल में दाखिला मिला है। आज शहर के स्कूल में उसका पहला दिन था और स्कूल जाने के लिए वो स्कूल बस का इंतजार कर रही थी। जब बस आयी वो तुरंत बस में चढ़ गयी वो बहुत ही उत्साहित नजर आ रही थी।


जब बस स्कूल पहुंची सभी बच्चे अपनी-अपनी क्लास में जाने लगे रिचा ने भी अपनी क्लास का पता साथ के बच्चों से पूछा और अपनी क्लास में चली गई जब वह अपनी क्लास में पहुंची उसकी क्लास के बच्चे उसका मजाक उड़ाने लगे उसके कपड़ो को देखकर और यह जानकर कि वह गांव से है जल्द ही टीचर क्लास में आ गई और उसने सभी बच्चों से शांत रहने के लिए कहा उसने रिचा को सभी से Introduce कराया और बताया कि आज से रिचा भी आप लोगों के साथ ही पढ़ेगी। 



उसके बाद टीचर ने सभी बच्चों से Surprise टेस्ट के लिए तैयार रहने को कहा और टीचर ने सभी से दुनिया के 7 अजूबे लिखने को कहा जल्द ही सभी बच्चे अपनी-अपनी कॉपियों में Answer लिखने लगे रिचा ने भी कुछ देर सोचकर धीरे-धीरे Answer देना शुरू किया। 

रिचा को छोड़कर बाकी सभी बच्चे अपना-अपना Answer Paper टीचर को Submit करा चुके थे, टीचर रिचा के पास आयी और पूछा "What Happended Dear" कोई बात नहीं तुम्हें जितना आता है उतना ही लिख दो क्योंकि बाकी के बच्चों को कुछ दिन पहले मैं इसके बारे में बता चुकी हूं लेकिन तुम्हें नहीं। 

रिचा ने जवाब दिया मैं सोच रही हूं कितने सारे अजूबे हैं मैं किन सात अजूबों को लिखूं और ऐसा कहते हुए उसने अपना Answer Paper टीचर को सबमिट कर दिया टीचर ने एक-एक करके सब के Answer Paper को देखना शुरू किया और लगभग सभी ने सही जवाब लिखे थे जैसे - चीन की दीवार, ताजमहल, हैंगिंग गार्डन आदि। 



टीचर खुश थी कि सभी बच्चों को सही Answer पता हैं और आखरी में उसने रिचा का आंसर पेपर पढ़ना शुरू किया। 

"सात अजूबे हैं - देख पाना, सुन पाना, महसूस करना, हंसना, सोचना, प्यार करना और दयालु रहना। "

टीचर हैरान थी और पूरी क्लास में शांति थी आज एक छोटे गांव की लड़की ने भगवान द्वारा हमें दिए गए अनमोल उपहारों की याद दिला दी थी और यह सचमुच एक अजूबे जैसा ही था। 

शिक्षा - भगवान ने हमें वह सब शक्तियां दी हैं जिससे हम अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं जरूरत है तो बस अपने अंदर झांकने की, भगवान द्वारा हमें दिए गए अजूबों को पहचानने की। 



Tags - 
#hindi short story with moral 
#hindi kahani 
#moral story for kids 
#inspirational story in hindi

You May Also Like
loading...
Share:

0 comments:

Post a Comment

LIKE US ON FB