29 Aug 2016

गुस्से में हम चिल्लाते क्यों हैं? - Hindi Short Story With Moral

गुस्से में हम चिल्लाते क्यों हैं? - Hindi Short Story With Moral

Hindi Short Story With Moral

एक संत महात्मा गंगा नदी के किनारे स्नान के लिए स्थान खोज रहे थे तभी उन्होंने गंगा के तट पर एक परिवार के सदस्यों को खड़े देखा जो गुस्से में एक दुसरे पर चिल्ला रहे थे। ये देखकर उन्होंने अपने साथ चल रहे शिष्यों को देखा और मुस्कुराते हुए पूछने लगे "लोग गुस्से में एक दुसरे पर चिल्लाते क्यों हैं?"

शिष्यों ने कुछ देर तक सोचा फिर उनमे से एक शिष्य बोला "क्योंकि हम अपनी शांति खो देते है इसलिए हम चिल्लाने लगते हैं" "लेकिन चिल्लाना क्यों है जब दूसरा व्यक्ति बिलकुल तुम्हारे सामने है, तुम वही बात शांति से भी तो बोल सकते हो?" संत ने फिर से पूछा। 



शिष्यों ने अन्य भी कई जवाब दिए लेकिन दुसरे शिष्य उन जवाबों से संतुष्ट नही हुए।

अंत में संत ने जवाब दिया - "जब दो लोग एक दुसरे से गुस्सा होते है उनके दिल(Heart) एक दुसरे से बहुत दूर हो जाते है। इस दूरी को पूरा करने के लिए उन्हें एक दुसरे से चिल्ला कर बोलना पड़ता है ताकि उनकी बात एक दुसरे तक पहुच सके"

"जितना ज्यादा वो गुस्सा करेंगे उतना ज्यादा वो चिल्लाएँगे क्योंकि उनके दिलों की दुरी उतनी ज्यादा बढती जाएगी"

क्या होता है जब दो लोगो के बीच प्यार होता है? वो एक दुसरे पर चिल्लाते नही है बल्कि शांति से और प्यार से एक दुसरे से बात करते हैं। उनके बीच दूरी होती ही नही या बहुत कम होती है। संत बोले "जब उनके बीच प्यार और ज्यादा बढ़ जाता है फिर क्या होता है?" वो एक दुसरे से बोलते नही है बस कानाफूसी करते है और उनका प्यार उन्हें एक दुसरे के और करीब ले आता है। 

अंत में उन्हें कानाफूसी की भी आवश्यकता नही पड़ती वे बस एक दुसरे की तरफ देखते है और एक दुसरे की बाते समझ जाते है। इसी को दिल मिलना कहते है यानी दिलों के बीच कोई दूरी ना रह जाना। 

संत महात्मा ने अपने शिष्यों की और देखा और बोले "जब भी तुम्हारी किसी से बहस हो अपने दिलों के बीच दूरी मत बढ़ने दो, ऐसे शब्द मत बोलो जिससे तुम्हारे बीच दूरी बढे अन्यथा एक दिन ऐसा आएगा जब दिलों के बीच की दूरी इतनी बढ़ जाएगी की वापसी की राह नामुनकिन हो जाएगी।


अगर आपको ये कहानी पसंद आई तो इसे दूसरो के साथ शेयर करना न भूलें, अगर आपके पास भी कोई ऐसी ही Hindi Short Story With Moral हो तो आप हमे Contact में जाकर शेयर कर सकते है हम उसे आपके नाम के साथ अपने ब्लॉग में Publish करेंगे।

Tags-
#short stories for kids in hindi
#hindi short story with moral
#hindi kahani

You May Like
loading...
Share:

2 comments:

  1. जब हमें गुस्‍सा आता है, तब हमारा ब्‍लड प्रेशर बढ़ जाता है और हम हाइपर होकर गुस्‍से से चिल्‍लाने लगते हैं। गुस्‍सा करने से हम सभी को बचना चाहिए। खासकर अकारण आने वाले गुस्‍से से। यदि गुस्‍सा आ रहा हो तो बागवानी या पेड़ पौधों की देखभाल में जुटने से मन शांत हो जाता है।

    ReplyDelete
  2. गुस्सा ये साबित करता है कि हम अन्दर से कमज़ोर हैं।
    गुस्से पे सुन्दर आर्टिकल लिखा है आपने

    ReplyDelete