A Hindi Blog About Motivation,Earn Money Online and New Technology

19 नव॰ 2018

सिंधी कौन होते हैं और नाम के पीछे आनी क्यों लगाते हैं? | Detail about Sindhi community

Detail about Sindhi community

दोस्तों इस पोस्ट में हम बात करेंगे भारत के Sindhi community के बारे में, दोस्तों भारत में तकरीबन 38 लाख Sindhi लोग रहते है. सिंध क्षेत्र या सिंधु घाटी में रहने वाले लोगों को सिंधी कहा जाता था जो स्थान आज पाकिस्तान में है. Sindhi लोग भी बाकी नॉर्थ इंडियंस की तरह इंडो आर्यन होते हैं.

Detail about Sindhi community

प्राचीन काल से हिंदू और बौद्ध धर्म सिंधियों का प्रमुख धर्म रहा है पर सातवीं शताब्दी में और उसके बाद सिंध में काफी बड़ी तादात में इस्लामिक आक्रमणकारी आए तब Sindhi community की आधी से ज्यादा पॉपुलेशन को मजबूरन इस्लाम अपनाना पड़ा. वैसे तो सिंधी हांगकांग, मलेशिया और अमेरिका में भी रहते हैं पर Sindhi community की सबसे ज्यादा पापुलेशन पाकिस्तान में रहती है जो कि करीब करीब मुस्लिम है.

यह भी पढ़े - सम्मान के महत्त्व पर श्रीकृष्ण का सन्देश | Importance of Respect

1947 में विभाजन के बाद पाकिस्तान से बड़ी मात्रा में हिंदू Sindhi और सिख भारत आए जिन्हें भारत में दिल्ली, मुंबई, अजमेर और बेंगलुरु जैसे शहरों में बड़ी मात्रा में बसाया गया. ज्यादातर देखा जाता है कि Sindhi community के लोग सिख और हिंदू दोनों धर्मों का अनुसरण करते हैं. संत झूलेलाल सिंधियों के इष्टदेव यानी sindhi god होते हैं और उनके जन्मदिन को चेटीचंड (cheti chand) के रूप में मनाया जाता है. चेटीचंड सिंधियों का प्रमुख त्यौहार होता है.

ज्यादातर Sindhi अपने नाम के पीछे “आनी” लगाते हैं जिसका मतलब अंश होता है. यह sindhi caste surname सिंधियों के मूल के बारे में बताते हैं यानी सिंधियों के पूर्वजों की उत्पत्ति के स्थानों को बताते हैं. इसके अलावा भी बहुत से sindhi caste surname होते हैं जैसे भाटिया, अरोड़ा, खत्री और मखीजा. पापड़ सिंधियों के भोजन का प्रमुख हिस्सा होता है कहा जाता है कि सिंधी लोग विभाजन के वक़्त अपने साथ पापड़ लेकर आए थे जिसने बुरे समय में उनका पेट भरने का काम किया.

यह भी पढ़े - खुश रहो लेकिन कभी संतुष्ट मत रहो - ब्रूस ली

तो दोस्तों यह थी भारत के Sindhi community की एक छोटी सी कहानी, अगर पोस्ट पसंद आयी तो दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।
Share:

1 टिप्पणी:

LIKE US ON FB

Popular Posts