A Fastest Growing Hindi Blog

12 अप्रैल 2019

भारत का रहस्यमय पहाड़ जो हर वाहन को अपनी तरफ खींच लेता है | Magnetic Hill Ladakh

Magnetic Hill Ladakh Detail in Hindi 

लद्दाख़ (Ladakh), भारत की शान और दुनिया भर के पर्यटकों का सपना अपने आंचल में असीम खूबसूरती को समेटे हुए हैं जहां एक ओर बर्फीली चोटियों, मन मोह लेने वाली झीलें दर्शको को लुभाती है वहीं दूसरी ओर बंजर और रेतीली जमीन आश्चर्यचकित करती हैं, रेतीला होने के कारण लद्दाख (Ladakh) को “डेजर्ट इन द स्काई” भी कहा जाता है.


leh ladhak hindi

मंजिल से ज्यादा खूबसूरत रास्ते-
ladakh roads
लद्दाख़ (Ladakh) घूमने जाने वाले लोग अक्सर मनाली से श्रीनगर तक का रास्ता पूरा करते हैं, मोह लेने वाले नजारों के बीच ही लेह श्रीनगर हाईवे यानि नेशनल हाईवे 1 पर एक अद्भुत पहाड़ है जो Magnetic Hill के नाम से जाना जाता है. यह पहाड़ी एक दूसरा आकर्षण का केंद्र पत्थर साहिब गुरुद्वारा के पास स्थित है. इस पहाड़ के विषय में दावा है कि इसमें चुंबकीय शक्ति (Magnetic Power) है जो वाहनों को अपनी ओर खींचती है, चौंकाने वाली बात यह है कि यहां बंद गाड़ी भी अपने आप ऊपर की ओर पहाड़ की दिशा में चलने लगती है. सामान्यतः ढलान पर वाहनों को गियर में डालकर पार्क किया जाता है जिससे वाहन फिसल कर नीचे की ओर न आ जाए और अपने स्थान पर ही रहे परंतु मैग्नेटिक हिल पर यदि वाहन को न्यूट्रल में रखा जाए तब भी नीचे की ओर नहीं बल्कि ऊपर की ओर की दिशा में जाता है. दूसरी चमत्कारिक बात यहाँ है कि ना केवल गाड़ियां बल्कि वायुयान भी इस पहाड़ी की ओर आकर्षित होते हैं.

Magnetic Hill Ladakh detail in hindi

कुछ लोग इसे गुरुत्वाकर्षण शक्ति और कुछ भ्रम मानते हैं तो आइए जानते हैं कि इस बारे में वैज्ञानिकों और पायलट का क्या कहना है? पायलट के अनुसार मैग्नेटिक हिल (Magnetic Hill) के ऊपर से गुजरते हुए उन्हें झटकों का अनुभव होता है इसलिए जैसे ही पायलट पहाड़ी से गुजरते हैं वो विमान की गति बढ़ा लेते हैं जिससे पहाड़ी की चुंबकीय शक्ति (Magnetic Power) से बचा जा सके. वैज्ञानिकों का कहना है कि इस पहाड़ी में बहुत शक्तिशाली और प्रभावशाली चुंबकीय ताकत है जो बहुत बड़े क्षेत्र में फैली हुई है. वहीं कुछ लोगों का कहना है कि यह केवल आंखों का धोखा है जो हमें ढलान दिखाई देता है वह रास्ता दरअसल ऊपर की ओर जा रहा है और मैग्नेटिक हिल (Magnetic Hill) की दिशा नीचे की ओर है जबकि हमें उल्टा नजर आता है.

दोस्तों यदि आप भी लद्दाख़ (Ladakh) के मैग्नेटिक हिल (Magnetic Hill) को देख चुके हैं तो अपना अनुभव कमेंट बॉक्स में शेयर कीजिए। यदि पोस्ट पसंद आयी तो शेयर जरूर करें.


यह भी पढ़े - तिरुपति बालाजी के आश्चर्यचकित करने वाले रहस्य | Tirupati Balaji Secrets in Hindi

अब पाइये हमारी सभी नयी पोस्ट अपने मोबाइल पर इसके लिए जुड़िये हमारे Whatsapp ग्रुप से - यहाँ क्लिक कीजिये

अगर आप अपना नंबर पब्लिक नहीं करना चाहते तो आपको "Hello Bloggeramit" लिखकर @9536884448 पर मेसेज करना होगा और भविष्य में आने वाली सभी पोस्ट आपके whatsapp पर पहुच जाएगी, धन्यवाद।

Tags -
#magnetic hill in hindi
#magnetic hill in ladakh defies gravity
Share:

10 अप्रैल 2019

तिरुपति बालाजी के आश्चर्यचकित करने वाले रहस्य | Tirupati Balaji Secrets in Hindi

Tirupati Balaji Secrets in Hindi

भगवान में आस्था रखने वाले भारतियों के अनगिनत सपनो में से एक है तिरुपति बालाजी (Tirupati Balaji) के दर्शन, अनेक लोग तो वर्ष में कम से कम एक बार तिरुपति बालाजी (Tirupati Balaji) के दर्शन करते हैं परंतु जो जीवन की परिस्थितियों के कारण बाध्य हैं वो जीवन में कम से कम एक बार दर्शन की कामना करते हैं. मित्रों यदि आप भी तिरुपति बालाजी (Tirupati Balaji) के दर्शन की चेष्टा रखते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए ही समर्पित है. आज की पोस्ट मे हम बताएँगे इस मंदिर के अनेक रहस्यमय तथा रोचक तथ्यों (Secerets) के विषय में जिनसे आप आज तक अनभिज्ञ थे.



तिरुमाला आंध्र प्रदेश में स्थित बालाजी में अर्पित पुष्पों को ना देखने की मान्यता है, मंदिर में जाकर ध्यान देने वाली बात है कि पुजारी पुष्पों को पीछे की ओर फेकते रहते हैं और फिर उसको कभी नहीं देखते.

बृहस्पतिवार के दिन बालाजी के विग्रह पर सफेद रंग का लेप लगाया जाता है कहा जाता है कि लेप को हटाने के पश्चात विग्रह पर लक्ष्मी जी के चिन्ह मिलते हैं.

तिरुपति बालाजी मंदिर (Tirupati Balaji) में एक दीपक बिना घी या तेल की अनेक वर्षों से जलता रहा है. आज तक किसी को यह नहीं ज्ञात है कि यह दीपक कब और किसने प्रज्वलित किया था.

अर्पित तुलसी तथा पुष्ट भक्तों को नहीं दिए जाते बल्कि उन्हें एक कुएं में डाल दिया जाता है.


बालाजी के दर्शन जब गर्भ ग्रह से किए जाते हैं तो ऐसा प्रतीत होता है कि विग्रह गर्भ ग्रह के मध्य में स्थित है परंतु बाहर से प्रतीत होता है कि विग्रह दाईं ओर स्थित है.

Tirupati Balaji Secrets in Hindi

कहा जाता है कि बालाजी के विग्रह पर जो बाल हैं वह वास्तविक हैं यह बाल हमेशा मुलायम तथा सुलझे हुए रहते हैं.


यह भी पढ़े - एलोरा के कैलाश मंदिर का अनसुलझा रहस्य | Kailasa Temple Ellora Facts in Hindi

अब पाइये हमारी सभी नयी पोस्ट अपने मोबाइल पर इसके लिए जुड़िये हमारे Whatsapp ग्रुप से - यहाँ क्लिक कीजिये

अगर आप अपना नंबर पब्लिक नहीं करना चाहते तो आपको "Hello Bloggeramit" लिखकर @9536884448 पर मेसेज करना होगा और भविष्य में आने वाली सभी पोस्ट आपके whatsapp पर पहुच जाएगी, धन्यवाद।

Tags-
#truth of tirupati temple
#tirupati balaji story in hindi
Share:

8 अप्रैल 2019

एलोरा के कैलाश मंदिर का अनसुलझा रहस्य | Kailasa Temple Ellora Facts in Hindi

Kailasa Temple Ellora Facts in Hindi

दोस्तों हमारे देश में प्राचीन विज्ञान के अद्भुत नमूने आज भी देखने को मिलते हैं जिन्हें देखकर आज के वैज्ञानिक और इंजीनियर भी हैरान हैं. प्राचीन विज्ञान आज की तुलना में कहीं अधिक विकसित था. आज इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे एक अचंभित करने वाले शिव मंदिर (Kailasa Temple) के विषय में जो महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एलोरा (Ellora) की गुफाओं में स्थित है.



Kailasa Temple Ellora Facts in Hindi

इस मंदिर को कैलाश मंदिर (Kailasa Temple) कहा जाता है क्या आप विश्वास कर सकते हैं कि इस मंदिर के निर्माण में 18 वर्ष लगे और इसके निर्माण में लगभग 7000 मजदूर कार्यरत थे? यह विशाल कैलाश मंदिर (Kailasa Temple) अतुलनीय कला का एक बेमिसाल उदाहरण है. इस मंदिर में हिमालय के कैलाश का रूप देखने को मिलता है. एलोरा (Ellora) की सोलहवीं गुफा में स्थित यह मंदिर पर्वत की चट्टानों को काटकर बनाया गया है. रोचक बात तो यह है कि इसे सिर्फ एक ही पत्थर को काट कर बनाया गया है.

कुछ वैज्ञानिकों के अनुसार यह मंदिर 1900 साल पुराना है जबकि कुछ के अनुसार 6000 साल से भी अधिक पुराना, सत्य तो यह है कि इस मंदिर में किसी भी ऐसी वस्तु का प्रयोग नहीं किया गया है जिससे यह पता लग सके कि इसका निर्माण कब हुआ? अविश्वसनीय बात है कि इस मंदिर का निर्माण ऊपर से नीचे की ओर हुआ है.



वैज्ञानिकों का कहना है कि इस मंदिर की खुदाई में लगभग 5 लाख टन पत्थर निकले होंगे यदि एक मजदूर प्रतिदिन 12 घंटे काम करता तो उसे हर दिन डेढ़ सौ पत्थर हटाने पड़ते, विशेषज्ञ कहते हैं कि आज की तकनीक से ऐसा निर्माण 18 साल में करना असंभव है. उस समय इसे 200 वर्ष से कम की अवधि में बनाना असंभव था.

हमारे वेदों में एक अस्त्र का उल्लेख है जिसके द्वारा ही ऐसा निर्माण संभव है. इस मंदिर की गुफाएं भी अपने आप में एक रहस्य है. इन गुफाओं को सरकार द्वारा बंद कर दिया गया है. कैलाश की कलाकृति इस बात को सिद्ध करती है कि प्राचीन विज्ञान आधुनिक विज्ञान की अपेक्षा कई गुना ज्यादा विकसित था.

दोस्तों यदि आपको भी कैलाश मंदिर (Kailasa Temple) के विषय में कुछ जानकारी है तो कृपया कमेंट करके हमें बताएं पोस्ट पसंद आयी तो शेयर जरूर करें.




अब पाइये हमारी सभी नयी पोस्ट अपने मोबाइल पर इसके लिए जुड़िये हमारे Whatsapp ग्रुप से - यहाँ क्लिक कीजिये

अगर आप अपना नंबर पब्लिक नहीं करना चाहते तो आपको "Hello Bloggeramit" लिखकर @9536884448 पर मेसेज करना होगा और भविष्य में आने वाली सभी पोस्ट आपके whatsapp पर पहुच जाएगी, धन्यवाद।

Tags -
#Kailasa Temple Ellora Facts
#kailash temple ellora history
#ellora caves facts
Share:

27 मार्च 2019

सौर मंडल के वो रहस्य जो शायद आप नही जानते | Solar System Facts in Hindi

Solar System Facts in Hindi

आज हम बात करेंगे Solar System के कुछ हैरतअंगेज रहस्यों की, आज की पोस्ट में हम आपके लिए कुछ ऐसी जानकारी लेकर आए हैं जो आपके लिए बिल्कुल नई तथा हैरान कर देने वाली है इसलिए पोस्ट को ध्यान से अंत तक पढ़िएगा.

Solar System Facts in Hindi
Source - Wikipedia
पृथ्वी का सबसे निकट उपग्रह चंद्रमा है जो कि हमेशा से ही आकर्षण का केंद्र रहा है लेकिन क्या आप जानते हैं कि पृथ्वी और चंद्रमा के बीच की दूरी बढ़ती जा रही है? हर रात जब हम चंद्रमा को देखते हैं तो ऐसा ही प्रतीत होता है कि यह हमेशा से इतनी ही दूरी पर है परंतु यह पूरी तरह से सत्य नहीं है. चंद्रमा पृथ्वी से 3.78 सेंटीमीटर प्रति वर्ष की गति से दूर जा रहा है जिसका कारण है धरती और चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण शक्ति, धरती व चंद्रमा दोनों ही एक दूसरे को अपनी ओर खींचते हैं. चंद्रमा की गुरुत्वाकर्षण शक्ति के कारण पृथ्वी पर समुद्र में ज्वार उत्पन्न होता है ज्वार के कारण उत्पन्न हुआ उभार चंद्रमा के ठीक नीचे नहीं होता, जहां पृथ्वी अपनी धुरी पर 24 घंटे में एक चक्कर लगाती है वही चंद्रमा 27 दिन में पृथ्वी का एक चक्कर लगाता है. हम देख सकते हैं कि धरती की परिक्रमा करने की गति चंद्रमा की अपेक्षा कहीं अधिक है जिस कारण समुन्द्र का उभार चंद्रमा से आगे रहता है और अपनी गुरुत्वाकर्षण शक्ति जो की बहुत मामूली सी होती है से चंद्रमा को अपनी ओर खींचता है परिणाम स्वरुप चंद्रमा की गति बढ़ जाती है इस गति वृधि के कारण ही चंद्रमा अपने परिक्रमा पथ से थोड़ा दूर चला जाता है.



सौरमंडल के सबसे छोटे ग्रह का नाम है बुद्ध जो सूर्य के सबसे करीब है, सूर्य के पास होने के बाद भी यह सबसे गर्म ग्रह नहीं है इसका कारण है कार्बन डाइऑक्साइड का न होना जो की सूर्य की किरणों को सोखती है साथ ही बुद्ध सबसे पहला तथा सबसे हल्का ग्रह है और इस गृह का कोई चंद्रमा नहीं है.

सौरमंडल का सबसे अधिक गर्म ग्रह है शुक्र जो कि सबसे अधिक चमकता भी है. इसे धरती से भी देखा जा सकता है. हलाकि सूर्य के सबसे पास बुद्ध है परंतु सबसे अधिक गर्म शुक्र है क्योंकि इस ग्रह पर वातावरण है और कार्बन डाइऑक्साइड भी उपस्थित है. शुक्र गृह का तापमान 462 डिग्री सेल्सियस है. इसका आकार पृथ्वी के समान होने के कारण इसे प्रथ्वी की बहन भी कहा जाता है और यह गृह घड़ी की दिशा में घूमता है. इसके अतिरिक्त यूरेनस भी घड़ी की दिशा में घूमता है बाकी सभी ग्रह घडी की विपरीत दिशा में घूमते हैं.


वैज्ञानिकों के अध्ययन के अनुसार भविष्य में मंगल ग्रह के पास भी संभव अपना एक वलय होगा, मंगल ग्रह के अपने दो चंद्रमा है फोबोस और डिमोज़, फोबोस आकार में अधिक बढ़ा है और बहुत तेज गति से मंगल की परिक्रमा करता है. गति तेज होने के कारण यह 1 दिन में दो बार परिक्रमा करता है, मंगल का यह उपग्रह मंगल की ओर बढ़ता जा रहा है पहले ऐसा कहा जाता था कि फोबोस मंगल ग्रह से टकरा जाएगा परंतु नए अध्ययन के अनुसार ऐसी संभावना है कि फोबोस मंगल ग्रह से टकराने से पहले गुरुत्वाकर्षण शक्ति से टूट जाएगा और इस के टुकडे एकत्रित होकर एक वलय के आकार में मंगल के चारों ओर फैल जाएँगे और इस प्रकार मंगल ग्रह के चारों ओर भी एक वलय होगा.

तो दोस्तों आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट करके हमें जरूर बताएं.


यह भी पढ़े - अंधे लोग काला चश्मा ही क्यों पहनते है?

अब पाइये हमारी सभी नयी पोस्ट अपने मोबाइल पर इसके लिए जुड़िये हमारे Whatsapp ग्रुप से - यहाँ क्लिक कीजिये

अगर आप अपना नंबर पब्लिक नहीं करना चाहते तो आपको "Hello Bloggeramit" लिखकर @9536884448 पर मेसेज करना होगा और भविष्य में आने वाली सभी पोस्ट आपके whatsapp पर पहुच जाएगी, धन्यवाद।
Share:

20 मार्च 2019

अंधे लोग काला चश्मा ही क्यों पहनते है?

बहुत से लोग सोचते हैं कि अंधे लोग काले चश्मे इसलिए पहनते हैं ताकि समाज में आते-जाते समय वह दूसरों से अलग ना लिखें क्योंकि उन्हें लगता है कि उनकी आंखों की अजीब सी बनावट से आसपास के लोग अनकंफर्टेबल महसूस करेंगे और इसलिए वह अपनी आंखों को चश्मे के पीछे छुपा लेते हैं अब ऐसा सोचना कुछ हद तक सही है लेकिन सिर्फ यही एक कारण नहीं है.


अंधे लोग काला चश्मा ही क्यों पहनते है?

शायद आप में से कुछ लोगों को यह लगता होगा कि अंधे लोगों को बिल्कुल भी दिखाई नहीं देता है लेकिन सच तो यह है कि कुछ लोगों को थोड़ा-थोड़ा दिखता है और वो काले चश्मे इसलिए पहनते हैं ताकि सूरज की तेज रोशनी जो उनकी आंखों पर पड़ती है उससे बचा जा सके और उन्हें थोड़ा साफ-साफ देखने में मदद मिले. दूसरी बात यह है कि हम सबको पता है कि सूर्य की रोशनी में कुछ नुकसान करने वाली अल्ट्रावायलेट किरण होती हैं जिससे उनकी आंखों पर बुरा असर पड़ता है तीसरा कारण बताने से पहले मैं आपको उदाहरण देता हूं मान लीजिए कि आप सड़क पर टहल रहे हो और कोई चीज तेजी से उड़ती हुई आपकी आंखों की तरफ आती है और अचानक से आप अपनी आंखें बंद कर लेते हो क्योंकि आप उस चीज को अच्छी तरह से देख सकते हो और मात्र 1 सेकंड से भी कम समय में आपका दिमाग आपकी आंखों को सिग्नल भेजता है आंखें बंद करने के लिए लेकिन अंधे लोग जिन्हें कम दिखाई देता है या बिल्कुल भी दिखता नहीं देता वो ऐसा नहीं कर सकते इसीलिए अपनी आंखों को किसी भी प्रकार से बचाने के लिए वह काले चश्मे पहनते हैं.


सबसे आखिरी चीज यह है कि जब कोई अँधा व्यक्ति आपसे बात करता है तो वह आपसे आखें नही मिला सकता ऐसे लोग कभी-कभी सामने से आने वाली आवाज की दिशा में देखने में असमर्थ होते हैं और सामने वाले व्यक्ति को अजीब ना लगे इसलिए वह काले चश्मे पहनते हैं.

जाने अनजाने में अगर किसी को बुरा लगा हो या ऐसा लग रहा है कि मैं अंधे लोगों का मजाक बना रहा हूं तो मै उनसे माफ़ी मांगता हूं, मेरा मकसद आप लोगो तक सिर्फ सही जानकारी पहुचना है.

पोस्ट पसंद आयी तो शेयर करना न भूलें.

यह भी पढ़े - भूटान देश की वो सच्चाई जो आप नहीं जानते | Bhutan Interesting Facts in Hindi

अब पाइये हमारी सभी नयी पोस्ट अपने मोबाइल पर इसके लिए जुड़िये हमारे Whatsapp ग्रुप से - यहाँ क्लिक कीजिये

अगर आप अपना नंबर पब्लिक नहीं करना चाहते तो आपको "Hello Bloggeramit" लिखकर @9536884448 पर मेसेज करना होगा और भविष्य में आने वाली सभी पोस्ट आपके whatsapp पर पहुच जाएगी, धन्यवाद।
Share:

19 मार्च 2019

भूटान देश की वो सच्चाई जो आप नहीं जानते | Bhutan Interesting Facts in Hindi

Bhutan Interesting Facts in Hindi

भूटान एक ऐसा देश जो पूर्वी हिमालय में स्थित है, एक ऐसा देश जो बेहद खूबसूरत है, एक ऐसा देश जिसके बारे में आप ज्यादा कुछ नहीं जानते अगर आप भूटान जाने की सोच रहे हैं या जानना चाहते हैं इस छोटे से देश के बड़े दिल वाले लोगों के बारे में तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ना, तो चलिए शुरू करते हैं.

Bhutan Interesting Facts in Hindi

Bhutan को लैंड ऑफ़ थंडर ड्रैगन नाम से भी जाना जाता है ऐसा इसलिए क्योकि हिमालय पर मौजूद होने के कारण यहाँ भयंकर तूफान आते रहते हैं.



Bhutan की एक तिहाई जनसंख्या में 14 साल से कम उम्र के बच्चे हैं और वहां की मध्य आयु 22.3 साल है.
Bhutan Interesting Facts in Hindi

Bhutan का थिंपू एशिया के उन 2 शहरों में से एक है जहां एक भी ट्रैफिक लाइट नहीं है.

Bhutan दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जहां तंबाकू के सेवन और बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध है.

Bhutan के कल्चर के मुताबिक वहां के लोगों को सिखाया जाता है कि जब भी कोई कुछ खाने के लिए दे तो मिसु मिसु बोलने के बाद अपने मुंह पर हाथ रख कर सामने वाले को मना करना है हालांकि दो से तीन बार मना करने के बाद सामने वाले के प्रस्ताव को स्वीकार किया जा सकता है.

Bhutan इस दुनिया का वह देश है जहां टीवी और इंटरनेट सबसे आखिर में पहुंचा और यहां की सरकार ने इन दोनों चीजों के ऊपर लगे प्रतिबंध को सिर्फ 11 साल पहले ही हटाया।

Bhutan की सबसे ज्यादा जनसंख्या बौद्ध धर्म में विश्वास रखती है और यहां का दूसरा सबसे बड़ा धर्म सनातन धर्म यानी कि हिंदू धर्म है.



Bhutan की जनसंख्या में 54.3% जवान लोगों का है इसमें से 73 प्रतिशत पढ़े-लिखे हैं.

Bhutan में विदेशी सैलानियों को घूमने जाने के लिए सबसे पहले 1974 में लागू किया गया था.

Bhutan पानी से बिजली का उत्पादन करता है और दूसरे देशों को निर्यात भी करता है.

Bhutan में 1999 से प्लास्टिक की थैलियों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा हुआ है.

Bhutan में हर इंसान की उम्र हर साल के दिन 1 साल बढ़ जाती है यानी कि यहां सब का जन्मदिन एक ही साथ मनाया जाता है.

यही कुछ बातें Bhutan को एक बेहद अनोखा और खूबसूरत देश बनाती है, पोस्ट पसंद आयी तो शेयर करना न भूलें।




अब पाइये हमारी सभी नयी पोस्ट अपने मोबाइल पर इसके लिए जुड़िये हमारे Whatsapp ग्रुप से - यहाँ क्लिक कीजिये

अगर आप अपना नंबर पब्लिक नहीं करना चाहते तो आपको "Hello Bloggeramit" लिखकर @9536884448 पर मेसेज करना होगा और भविष्य में आने वाली सभी पोस्ट आपके whatsapp पर पहुच जाएगी, धन्यवाद।
Share:

17 मार्च 2019

यह हैं वो खतरनाक काम जो आप रोजाना करते है

इस पोस्ट में मै आपको बताऊंगा कुछ ऐसे काम जो आप रोज करते हो लेकिन या तो वह गलत है या फिर उन्हें थोड़ा ध्यान से करना चाहिए तो चलिए शुरू करते हैं.

1 - छींक
छींक तो किसी को कहीं भी और कभी भी आ सकती है लेकिन हम अपनी नाक को जब बंद करके उसे रोकने की कोशिश करते हैं तब शुरू होती है असली समस्या जो कि बिल्कुल गलत है क्योंकि इससे हमारे शरीर के नस फटने का बहुत ज्यादा डर है.

2 - इलेक्ट्रिक आग
हो सकता है कि कभी शॉर्ट सर्किट से आपके घर में मामूली सी आग लग जाए लेकिन कभी भी पानी से उसे बुझाने की कोशिश बिल्कुल ना करें, बहुत से लोग यही गलती करते हैं जो कि सरासर गलत है इससे आपकी मौत भी हो सकती है.

3 - मोबाइल देखकर चलना
बहुत से लोगों की आदत होती है कि दिनभर मोबाइल में व्यस्त रहना और चैटिंग करना लेकिन कुछ लोग रोड क्रॉस करते समय भी ऐसा करते हैं जो कि बेहद खतरनाक है और मुझे नहीं लगता कि आपको इसके बारे में मुझे और विस्तार से बताने की जरूरत है कि ऐसा करने से आपके साथ क्या हो सकता है.


4 - पिंपल्स
चेहरे पर पिंपल आना एक आम बात है लेकिन बहुत से लोग उसे दबाकर फोड़ देते हैं जो कि बिल्कुल गलत है क्योंकि हमारी स्कीन के नीचे काफी सारी ब्लड सेल्स होती है जिसमें ऐसा करने से इंफेक्शन हो सकता है और इसीलिए पिंपल को ठीक करने के लिए हमेशा मेडिकल तरीका ही इस्तेमाल करें

5 - सीढ़ियां
एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका के 5 साल से कम उम्र का हर छोटा बच्चा सीढ़ियों से गिरकर चोटिल हो जाता है और ब्रिटेन की एक रिपोर्ट के मुताबिक वहां हर साल 700 लोग की मौत सीढ़ि से गिरकर होती हैं और इसीलिए अगली बार सीढ़ी चढ़ते-उतरते समय थोड़ा ध्यान दें

6 - चार्जिंग होते मोबाइल पर बात करना
आपने देखा कि बहुत से लोग फोन चार्ज करते हुए भी बात करते हैं लेकिन बहुत ऐसे मामले हो चुके हैं जिसमे ऐसा करने वाले के चेहरे पर ही मोबाइल की बैटरी ब्लास्ट हो गई, हो सकता है कि ऐसा बैटरी खराब होने या फिर फोन फुल चार्ज होने के कारण हुआ हो लेकिन है यह काफी खतरनाक साबित हो सकता है तो अगली बार थोड़ा संभल के.

यह भी पढ़ेदुनिया के 5 खतरनाक कीड़े जो आपकी जान ले सकते हैं 

अब पाइये हमारी सभी नयी पोस्ट अपने मोबाइल पर इसके लिए जुड़िये हमारे Whatsapp ग्रुप से - यहाँ क्लिक कीजिये

अगर आप अपना नंबर पब्लिक नहीं करना चाहते तो आपको "Hello Bloggeramit" लिखकर @9536884448 पर मेसेज करना होगा और भविष्य में आने वाली सभी पोस्ट आपके whatsapp पर पहुच जाएगी, धन्यवाद।
Share:

LIKE US ON FB

Popular Posts