A Hindi Blog About Motivation, Daily News and New Technology Update

7 जन॰ 2019

उत्तर कोरिया vs दक्षिण कोरिया, जानिए कौन है बेहतर? | North Korea vs South Korea Interesting Facts

North Korea vs South Korea Interesting Facts

दोस्तों एक तरफ साउथ कोरिया दुनिया का एक ऐसा देश है जो अपने डेवलपमेंट और टेक्नोलॉजी के लिए पूरे दुनिया में जाना जाता है और दूसरी तरफ नॉर्थ कोरिया दुनिया का एक ऐसा देश है जहां की सरकार, लोग और नियम कानून पूरे दुनिया से अलग है. तो आज मैं बताने वाला हूं नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया के बारे में कुछ ऐसी बातें जो शायद आप नहीं जानते हैं.

1 - दोस्तों अगर क्षेत्र के लिहाज से देखा जाए तो नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया एक दूसरे के लगभग बराबर हैं लेकिन साउथ कोरिया की आबादी नॉर्थ कोरिया से लगभग दोगुने से भी अधिक है. नॉर्थ कोरिया की आबादी ढाई करोड़ है जबकि साउथ कोरिया की आबादी लगभग पांच करोड़ से भी अधिक है.

2 - एक बात शायद आपको हैरान कर दे की साउथ कोरिया की प्रति व्यक्ति आय नॉर्थ कोरिया के मुकाबले लगभग 23 गुना से भी अधिक है और नॉर्थ कोरिया का सालाना प्रति व्यक्ति आय भारतीय 1 लाख 17 हज़ार रूपये है जबकि साउथ कोरिया का प्रति व्यक्ति आय भारतीय 26 लाख रूपये से भी अधिक है.

3 - एक तरफ साउथ कोरिया काफी विकसित और दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण अर्थव्यवस्था वाला देश माना जाता है वहीँ नॉर्थ कोरिया में चलने वाली व्यवस्था आज भी करीब-करीब 19वीं शताब्दी जैसी है.

4 - एक तरफ साउथ कोरिया अपने म्यूजिक और सिनेमा के लिए जहां पूरे दुनिया में जाना जाता है वहीं दूसरी तरफ नॉर्थ कोरिया में बाहर देशों में बनने वाली फिल्मों के ऊपर रोक लगा दिया जाता है.

5 - साउथ कोरिया के लोग काफी मॉडर्न कपड़े और जो मर्जी पहन सकते हैं जबकि नॉर्थ कोरिया में लोगों को ज्यादातर कोरिया का सांस्कृतिक ड्रेस पहनना होता है. यहां तक कि यहां के लोग सरकार के द्वारा दिए गए कैटलॉग के बाहर बाल भी नहीं कटवा सकते.



6 - साउथ कोरिया में महिलाओं को वेश्यावृत्ति करने की पूरी आजादी दी जाती है और आबादी के हिसाब से इसकी संख्या पूरी दुनिया में दूसरे नंबर पर है जबकी नॉर्थ कोरिया में इन सब चीजों को मंजूरी नहीं दी जाती.

North Korea vs South Korea Interesting Facts


7 - साउथ कोरिया में स्थित बहुत से शहर एशिया के सबसे विकसित शहरों में से माने जाते हैं और यहां की ज्यादातर चीजें प्राइवेट कंपनियों के द्वारा बनायीं गयी हैं जबकि नॉर्थ कोरिया में स्थित शहरों का इन्फ्रास्ट्रक्चर भी काफी अच्छा माना जाता है पर यहां के शहर का ज्यादातर हिस्सा नॉर्थ कोरिया सरकार के द्वारा बनाया गया है.

North Korea vs South Korea Interesting Facts

8 - नॉर्थ कोरिया के लोग दुनिया के ज्यादातर हिस्से से इंटरनेट के द्वारा जुड़ नहीं पाते हैं और यहां के ज्यादातर लोगों को इंटरनेट इस्तेमाल करने की सुविधा नहीं दिया जाता है जबकि इंटरनेट के मामले में साउथ कोरिया दुनिया के सबसे बेहतरीन देशों में से माना जाता है.

North Korea vs South Korea Interesting Facts

9 - साउथ कोरिया में बच्चों के ऊपर पढ़ाई को लेकर काफी दबाव दिया जाता है जबकि नॉर्थ कोरिया के लोग पढ़ाई के मामले में बच्चों के ऊपर ज्यादा दबाव नहीं देते हैं.

10 - नॉर्थ कोरिया में चलने वाली करेंसी की कीमत साउथ कोरिया के मुकाबले काफी सस्ती और कमजोर मानी जाती है.
Share:

4 जन॰ 2019

Chanakya Niti Hindi | समझदार व्यक्ति इन 4 स्थानों पर नहीं रहतें

Chanakya Niti हिंदी में

Chanakya Niti प्रथम अध्याय श्लोक आठवां

उस जगह निवास ना करें जहां आपकी कोई इज्जत नहीं हो, जहां आप रोजगार नहीं पा सकते, जहां आपका कोई मित्र नहीं और जहां आप कोई विद्या अर्जित नहीं कर सकते।

Chanakya Niti प्रथम अध्याय श्लोक आठवां

दोस्तों इस आठवीं नीति में चाणक्य कहते हैं कि आपको ऐसी जगह पर नहीं रहना चाहिए जहां पर आपकी इज्जत ना हो, वैसे देखा जाए तो यह काफी हद तक सही बात है कि ऐसी जगह पर रह कर भी क्या फायदा जहां की कोई इज्जत ना करता हो क्योंकि वहां पर ना तो कोई आपकी इज्जत करेगा ना ही कोई आपकी बात को मानेगा।


फिर आगे चाणक्य कहते हैं कि जहां पर आप रोजगार नहीं पा सकते हैं वहां पर नहीं रहना चाहिए क्योंकि दोस्तों जहां पर आप पैसे नहीं कमा सकते हैं वह जगह आपके लिए क्या काम आएगी और फिर जिंदगी चलाने के लिए कुछ ना कुछ कमाई करनी होगी इसलिए आपको ऐसी जगह पर रहना होगा जहां पर आप पैसे कमा पाए।



आगे चाणक्य कहते हैं जहां आप विद्या अर्जित नहीं कर सकते वहां भी नहीं रहना चाहिए और आज के टाइम में कहा जा सकता है ऐसी जगह जहां पर कोई स्कूल या कॉलेज नहीं मिलता वह जगह कोई काम की नहीं है तो ऐसी जगहें पर नही रहना चाहिये.
Share:

Chanakya Niti Hindi | ऐसी जगह पर एक दिन भी निवास ना करें, जहां यह पांच चीज न हो

Chanakya Niti हिंदी में

Chanakya Niti प्रथम अध्याय श्लोक नौ

ऐसी जगह पर एक दिन भी निवास ना करें जहां यह पांच चीज न हो एक धनवान व्यक्ति, एक ब्राह्मण जो वैदिक शास्त्रों में निपुण हो, एक राजा, एक नदी और एक चिकित्सक।

Chanakya Niti प्रथम अध्याय श्लोक नौ

दोस्तों आचार्य चाणक्य नीति में कहते हैं कि उन स्थानों पर एक दिन भी नहीं रहना चाहिए जिस शहर में कोई भी धनवान व्यक्ति ना हो, जिस देश में वेदों को जानने वाला विद्वान ना हो, जिस देश में कोई राजा या फिर सरकार ना हो, जिस शहर या गांव में कोई वैध यानि कि डॉक्टर ना हो, जिस स्थान के पास कोई भी नदी नहीं बहती हो क्योंकि आचार्य चाणक्य मानते हैं कि जीवन की समस्या में इन पांच वस्तुओं का महत्व बहुत ही है।




जैसे की प्रॉब्लम के समय पर अगर आपको पैसे की जरूरत होती है तो वह धनवान व्यक्ति आपको पैसे दे सकता है भले ही थोड़े उधार देगा मगर वह पैसे दे सकता है क्योंकि उसमें उसका भी फायदा है.

कर्मकांड और जिंदगी को कैसे जीना है एक ब्राह्मण से अच्छा कोई नहीं जान सकता और वह अगर वेदों में निपुण है तो वह आपको अच्छी जिंदगी जीने की सलाह दे सकता है तो कोशिश कीजिए ऐसी जगह पर रहने की जहां एक ब्राह्मण हो, जो वैदिक शास्त्रों में निपुण हो।


देश को चलाने के लिए पहले राजा का शासन चलता था और अब भी सरकार का शासन चलता है इसीलिए आचार्य चाणक्य कहते हैं कि ऐसी जगह पर न रहे जहां पर सरकार यानि लोकतंत्र ना हो।

जिंदगी जीने के लिए पानी बहुत ही जरूरी है यह आप भी जानते हैं और छोटे से छोटा बच्चा भी जानता होगा क्योंकि हर इंसान की जिंदगी में पानी सबसे अहम हिस्सा है मगर पानी एक ऐसी चीज है जो हर जगह पर नहीं मिलेगा और पानी की कमी पूरी करने के लिए कोशिश करनी चाहिए कि आप ऐसी जगह पर है जहां पानी भरपूर आपको मिलता हूं या फिर एक नदी आपके आपके इलाके के आस पास बहती हो।




चाणक्य कहते हैं जहां पर एक चिकित्सक न हो हो वहां पर भी नहीं रहना चाहिए क्योंकि सबसे जरूरी चीज़ है आपकी हेल्थ अगर आपकी हेल्थ बचाने वाला ही नहीं होगा तो वह जगह कोई भी काम की नहीं क्योंकि आपकी हेल्थ अच्छी नहीं रहेगी तो जिंदगी की कोई कीमत नहीं है तो आपको कोशिश करनी चाहिए ऐसी जगह रहने की जहां पर पास में कोई डॉक्टर हमेशा उपलब्ध हो।
Share:

2 जन॰ 2019

Chanakya Niti Hindi | बुद्धिमान व्यक्ति को ऐसी जगह में कभी नहीं जाना चाहिए

Chanakya Niti हिंदी में

Chanakya Niti प्रथम अध्याय श्लोक 10

बुद्धिमान व्यक्ति को ऐसे देश में कभी नहीं जाना चाहिए जहां रोजगार कमाने का कोई माध्यम ना हो, जहां लोगों को किसी बात का भय ना हो, जहां लोगों को किसी बात की लज्जा ना हो, जहां लोग बुद्धिमान ना हो और जहां लोगों की वृत्ति दान-धर्म करने की ना हो.

Chanakya on intelligent people

दोस्तों आचार्य चाणक्य इस नीति में कहते हैं जहां रोजी-रोटी कमाने का कोई साधन ना हो, जहाँ लोगों में लोक लाज अथवा किसी प्रकार का भय ना हो, जिस स्थान पर परोपकारी लोग ना रहते हो और जहाँ त्याग की भावना ना पाई जाती हो वहां पर रहना खतरे से भरा और व्यर्थ है.




ऐसे स्थान पर व्यक्ति का कोई सम्मान ही नहीं होगा और वहां रहना भी कठिन होगा, व्यक्ति को अपने आवास के लिए सब प्रकार के साधन संपन्न और व्यवहारिकता का स्थान चुनना चाहिए, सभी साधन और सभी चीजें मिल जाए ऐसी जगह पर अगर व्यक्ति रहता है तो वह अपने परिवार के साथ सुरक्षित रहेगा क्योंकि वहां के लोगों में ईश्वर में आस्था होगी, वहां के लोग समाज का आदर करेंगे, आपका आदर करेंगे, एक बुद्धिमान व्यक्ति का आदर करेंगे और गलत काम करने में उनको डर रहेगा, उनको संकोच होगा और लज्जा रहेगी.

Share:

31 दिस॰ 2018

Chanakya Niti Hindi | इंसान को परखना सीखें कौन अच्छा कौन बुरा?

Chanakya Niti हिंदी में

Chanakya Niti, प्रथम अध्याय श्लोक 11

नौकर की परीक्षा तब करें जब वह कर्तव्य का पालन ना कर रहा हो, रिश्तेदार की परीक्षा तब करें जब आप मुसीबत में घिरे हो, मित्र की परीक्षा विपरीत परिस्थितियों में करें और जब आपका वक्त अच्छा ना चल रहा हो तब पत्नी की परीक्षा करें.



दोस्तों, आचार्य चाणक्य इस नीति में कहना चाहते हैं कि समय पर ही लोगों की परख होती है। हम सब जानते हैं कि हर एक इंसान के अंदर अच्छाई होती है और बुराई भी होती है तो हर एक इंसान हमारे समय को देखने के बाद अपना सही चेहरा दिखाता है यानी कि हमारे लिए वह इंसान कैसा है वह हमारे अच्छे या फिर बुरे टाइम पर निर्भर करता है.

Chanakya Niti Hindi

इसीलिए आचार्य चाणक्य कहते हैं कि नौकर की परीक्षा तब करें जब वह कर्तव्य का पालन न कर रहा हो, अगर किसी भी रिश्तेदार की परीक्षा करनी है कि वह हमारे लिए कैसा है हमारे लिए अच्छा सोचता है या फिर हमारे लिए बुरा सोचता है तो वह परीक्षा आप जब भी मुसीबत में हो मुसीबत में हो तब आप ले सकते हैं, आपका कोई भी रिश्तेदार आपके लिए शुभचिंतक है आपके लिए अच्छा सोचता है तो आप की मुसीबत के समय में भी आपके लिए काम आएगा.



एक सच्चे दोस्त की भी परीक्षा उसी समय पर होती है जब आप बहुत ही बुरी परिस्थिति में हो, जब आपके पास पैसा ना हो या फिर आपके घर में कोई प्रॉब्लम हो तो आपका एक सच्चा मित्र ही आपके काम आ सकता है. अगर आपका कोई दोस्त है जो आपको बुरे समय में काम नहीं आया तो वह मित्र कोई भी काम का नहीं क्योंकि वह आपके बुरे समय में आपके साथ नहीं रहा तो वह आपके लिए कुछ भी नहीं कर पाएगा.

चाणक्य यह भी कहते हैं कि पत्नी की परीक्षा बुरे वक्त में ही हो सकती हैं, पत्नी ऐसी होनी चाहिए जो आपको व्यसन से दूर करें, पत्नी वह होती है जो सहायिका और असली जीवन संगिनी होती है. पत्नी के मन में कभी भी पैसों की लालच नहीं होनी चाहिए यानी कि पति का कैसा भी समय चल रहा हो उसके पास पैसे हो या ना हो लेकिन पत्नी को उसका साथ देना चाहिए.




आचार्य चाणक्य कहते हैं कि सही समय पर सही इंसान की परख हो जाती है बस आपको सही नजर से उसको देखना है कि किस समय पर कौन सा व्यक्ति आपको काम आया.
Share:

30 दिस॰ 2018

Chanakya Niti Hindi | अच्छा मित्र कौन है? जानिए क्या कहते है चाणक्य

Chanakya Niti हिंदी में

Chanakya Niti, प्रथम अध्याय श्लोक बारह

अच्छा मित्र वही है जो हमें निम्नलिखित परिस्थितियों में नहीं त्यागे-

आवश्यकता पड़ने पर, कोई दुर्घटना पड़ने पर, जब अकाल पड़ा हो, जब युद्ध चल रहा हो, जब एक राजा के दरबार में जाना पड़े और जब श्मशान घाट पर जाना पड़े

दोस्तों, आचार्य चाणक्य इस नीति में हमारी दोस्ती के बारे में कहते हैं यानी कि एक अच्छा मित्र किसे कहते हैं. यह बातें हम पर भी लागू होती है जितनी कि दूसरों पर, एक अच्छा मित्र वही होता है जो आवश्यकता पड़ने पर काम आए, जब हम मुसीबत में हो तब काम आए, जब हमारा बुरा वक्त हो तब काम आए तभी वह एक सच्चा मित्र होता है.

Chanakya Niti Hindi

वैसे अभी के समय में अगर देखा जाए तो बहुत ही कम सच्चे दोस्त मिलते हैं इसीलिए आचार्य चाणक्य कहते हैं जो आवश्यकता पड़ने पर काम आए उसी को अच्छा मित्र माने, चाणक्य कहते हैं किसी दुर्घटना पर जो मित्र काम आए वह एक अच्छा मित्र है आप या फिर आपकी फैमिली अगर कोई संकट में है तो आपका मित्र आप के काम आना चाहिए, यही बात आप पर भी लागू होती है कि हम जिस से सच्ची दोस्ती कर लें तो उसे हर वक्त काम आना चाहिए, उसकी लाइफ में जो भी प्रॉब्लम हो उसे हेल्प करनी चाहिए।

Chanakya Niti on Friendship


फिर आगे चाणक्य कहते हैं अकाल पड़ा हो या युद्ध चल रहा हो तब एक सच्चा मित्र जरूर काम आना चाहिए क्योंकि अकाल के समय पर हमारे दोस्त के पास जो चीज है और जो हमारे पास नहीं है तो वह हमारी हेल्प कर सकता है और यही चीज हम भी अपने दोस्त के साथ कर सकते हैं अगर उसके घर में किसी चीज की प्रॉब्लम हो जैसे - पैसे की, खाने की या ऐसी कोई भी चीज अगर उसके घर में कोई प्रॉब्लम हो तो हम उसका सपोर्ट कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेChanakya Niti Hindi | इसे बचाना सीखो वरना जिंदगी बेकार हो जाएगी

आगे चाणक्य कहते हैं जब हमें राजा के दरबार में जाना पड़े लेकिन अभी के समय के लिए कोई राजा नहीं है लेकिन अगर कोर्ट-कचहरी या फिर कोई भी काम हो जिसमें अपना दोस्त फंसा हो या फिर हम फंसे हो तो हमें अपनी दोस्ती निभानी चाहिए, अगर हमारा दोस्त सच्चा हो तो हमें कोर्ट कचेरी तक जाना चाहिए।
Share:

29 दिस॰ 2018

Chanakya Niti Hindi | इसे बचाना सीखो वरना जिंदगी बेकार हो जाएगी

Chanakya Niti हिंदी में

Chanakya Niti प्रथम अध्याय श्लोक सातवां

भविष्य में आने वाली मुसीबतों के लिए धन एकत्रित करें, ऐसा ना सोचे कि धनवान व्यक्ति को मुसीबत कैसी? जब धन साथ छोड़ता है तो संगठित घन भी तेजी से घटने लगता है.

Chanakya Niti Hindi

दोस्तों आचार्य चाणक्य इस नीति में कहते हैं कि आपातकाल के लिए यानी कि बुरे समय के लिए धन की रक्षा करनी चाहिए वैसे छठवे श्लोक में भी चाणक्य ने बोला है कि पैसे की रक्षा करनी चाहिए सातवें श्लोक में कहा है कि पैसे की रक्षा करनी चाहिए लेकिन यह कभी नहीं सोचना चाहिए कि पैसे वाले व्यक्ति को कभी प्रॉब्लम नहीं आ सकती क्योंकि पैसा ऐसी चीज है जिसका कोई भरोसा नहीं, वह आप का साथ कभी भी छोड़ सकता है इसीलिए पैसे आपको कैसे बचाने है और पैसों का महत्व क्या है वह भी सीखना होगा.

एक महान लेखक कहते हैं कि पैसे कमाना उतना ही कठिन है जितना पैसे को बचाए रखना चलिए इस नीति को समझने के लिए मैं आपको एक कहानी सुनाता हूं मैं आशा करता हूं यह कहानी आपको पसंद आएगी तो कहानी कुछ इस तरह है -

एक गरीब इंसान था. वह इतना गरीब था कि वह अपने परिवार का पालन पोषण भी बड़ी मुश्किल से कर पाता था फिर भी वह अपनी बेटी की शादी बड़े अच्छे से करना चाहता था और उसके सपने देखता था और अपने बेटे को पढ़ा लिखा कर एक बड़ा आदमी बनाना चाहता था वैसे अक्सर उसे अपनी गरीबी पर गुस्सा आता था लेकिन उस का भाग्य अचानक बदल गया लॉटरी लग गई, एक साथ बहुत सारा रूपया हाथ में आते ही उसने 10-15 सिलाई की मशीन खरीद कर कारीगर को बिठा दिया. देखते ही देखते उसका काम बहुत बढ़ गया और वो एक बहुत बड़ी कंपनी का मालिक बन गया.


अब तक उसके बच्चे भी बड़े हो गए थे लेकिन बाप के अपार पैसे से उनकी आदत बिगड़ गई थी वैसे औलाद हर आदमी की कमजोरी होती है, हर मां बाप की कमजोरी होती है उसकी भी यही कमजोरी थी इसीलिए उसने कभी अपने बच्चों को रोकने की कोशिश नहीं की न ही कभी उसने कभी पूछा कि पैसे कहां खर्च होते हैं और ना ही कभी यह जानने की कोशिश की कि वह पैसे कैसे खर्च होते हैं और ऐसा करते करते हैं उसका बैंक बैलेंस खत्म हो चुका था. उसके पास जो स्टाफ था, कारीगर थे उनको तनख्वाह देने तक के भी पैसे नहीं बचे थे और यही कारण से उसका कारखाना बंद हो गया वह पहले से भी ज्यादा गरीब हो गया.

देखा आपने जब तक वह इंसान अपनी सोच से पैसे को उपयोग करता था तब तक उसकी उन्नति हो रही थी वह आगे बढ़ रहा था, दिन-ब-दिन पैसे भी कमा रहा था उसके पास पैसा बढ़ता गया लेकिन जैसे ही पैसों का फिजूल खर्च होने लगा उसमें लापरवाही आई, वह अपना पैसा खोने लगा और एक टाइम ऐसा आया कि वह कंगाल हो गया और उसे कंगाल होने में ज्यादा टाइम भी नहीं लगा.


एक बात जरूर याद रखें कि हर एक इंसान का समय आता है हो सकता है आपका भी आये और आपके पास बहुत सारे पैसे आ जाये लेकिन अगर आप आगे बढ़ना चाहते हैं और पैसे साथ लेकर चलना चाहते हैं तो आपको पैसे का महत्व समझना जरूरी है तभी आप साफल्य को बनाये रख पाएँगे.

Share:

27 दिस॰ 2018

Mentally Strong कैसे बने | यह 5 बातें आपको बना देंगी मानसिक रूप से मजबूत

Mentally Strong कैसे बने?

दोस्तों आज की इस पोस्ट में मै आपको बताऊंगा Mentally Strong कैसे बन सकते हैं? मुझे नहीं लगता कि कोई मानसिक शक्ति के साथ ही पैदा होता है पर मैं यह जरूर मानता हूं कि यह कुछ ऐसी चीजें हैं जो हम अपनी जिंदगी के रास्तों में सीखते हैं.


हमने बहुत सारे सफल लोगों के उदाहरण देखे हैं, मैं आज आपको 5 ऐसी बातें बताने वाला हूं जो मानसिक रूप से स्ट्रांग लोगों में पाई जाती है और इन्हें आप बड़ी आसानी से अपनी जिंदगी में भी ला सकते हैं.

Mentally Strong कैसे बने

पहला - देर से संतुष्टि
अधिकांश लोग विफल हो जाते हैं, फेल हो जाते हैं क्योंकि वह प्रयोग करते हैं लालच करते हैं या चुनौतियों को जल्दी से छोड़ देते हैं. Mentally Strong लोग समझते हैं कैसे ज्यादा मेहनत करनी है और ज्यादा से ज्यादा आउटपुट लाना है. यह लोग फायदे का कम और अपनी तरफ से काम पूरा करने का ज्यादा सोचते है. किसी साइंटिस्ट द्वारा इंसानों के साथ एक्सपेरिमेंट किया तो पाया कि इंसान फल की चिंता करना छोड़ देता है अगर उसे यह महसूस हो जाए उसके काम का रिजल्ट जरूर मिलेगा। 

दूसरा - बाधाओं को गले लगाना
हम मानना चाहते हैं कि हमें सारी स्वतंत्रता है और हमें लगता है कि ज्यादा फ्रीडम हमें और बेहतर बनाता है जबकि सच इसका उल्टा है. जब बहुत लोग ऐसे ही अपनी आजादी को अपना अधिकार समझने लगते हैं तब कुछ लोग उसको अपना तोहफा समझते हैं और उनकी लाइफ में आई विफलताओं को, निराशा को एक अवसर की तरह देखते हैं और डटे रहते हैं। 


तीसरा - आज्ञा न लेना
Mentally Strong लोग खुद को जिम्मेदार मानते हैं अपनी जिम्मेदारियां समझते हैं। वह अपने रास्ते बनाते हैं। उनसे गलतियां भी होती है। उन गलतियों से उन्हें कोई नहीं बचा सकता, ऐसी चीज है जो होकर ही रहेगी या जो हो चुकी है। ये ना ही उस गलती के बारे में ज्यादा सोचते हैं, न उदास होते हैं परंतु एक सीख लेकर जल्दी से जल्दी आगे बढ़ जाते हैं। 

चौथा - स्थिरता
Mentally Strong लोग पैदाइशी ऐसे नहीं होते, यह चीजें हमें लानी पड़ती है अपनी जिंदगी में, सफलता एक-दो दिन में नहीं आती इसलिए सफल लोग नियमितता का पालन करते हैं क्योंकि एक बार सफल होना तुक्का माना जाता है परंतु अगर आप सफल होने के बाद उसे बनाए रखते हैं तो उसे नियमित मेहनत कहा जाता है। नियमितता ही आपकी नई आदत स्थिरता को आपके अंदर लाती है। 

पांचवा - आशावादी होना
एक बात जो हमें आगे बढ़ाती है वह है आपकी जिज्ञासा,  अगर किसी काम के लिए आपके अंदर जिज्ञासा ही ना हो तो वह काम आप करेंगे ही नहीं और ना ही आपको कोई निराशा होगी। Mentally Strong लोग खुद पर पूरा भरोसा रखते हैं और अपनी जिज्ञासा को कभी कम नहीं करते, अपनी आशा को कभी कम नहीं करते। आशा ही प्रकाश है एक गाड़ी के लिए जो रात को सुनसान सड़क पर चलती है वो ना हो तो आपका विश्वास डगमगा जाएगा। 


मैं आपसे बस इतना कहना चाहूंगा अपने आप को मानसिक रूप से स्ट्रांग बनाने के लिए अपनी उर्जा और समय का 80% निवेश मानसिक शक्ति पर करें. ध्यान दीजिए कि आप कैसे फैसले लेते हैं और उन्हें परखिए हमेशा खतरा मोल लें, रिस्क लेना सीखे हर रोज अपने आपको कंफर्ट जोन से बाहर निकालने की, सीमाओं को तोड़ने की कोशिश करें और्व ये आपकी बॉडी को और आपको माइंड दोनों को फिट रखेगा.

अधिक जानकारी के लिय आप विकिपीडिया का मानसिक स्वास्थ्य विज्ञान लेख पढ़ सकते हैं यह भी आपकी मदद करेगा। 
Share:

LIKE US ON FB

Popular Posts