A Hindi Blog About Motivation,Earn Money Online and New Technology

4 दिस॰ 2018

दुनिया में सबसे अनमोल क्या है जानिए श्रीकृष्ण का जवाब | What is Most Priceless By Krishna

आज आप सब से एक पहेली पूछता हु. इस संसार में सबसे अनमोल (Most Priceless) क्या है? आप में से कुछ कहेंगे स्वर्ण, कुछ कहेंगे मोती, कुछ कहेंगे हीरा तो इसमें पहेली क्या हुई?

पहेली यह है की जो संसार में सबसे अनमोल (Most Priceless) है वही संसार में सबसे सस्ता भी है वह हर पल मरता भी है और सदा जीवित भी रहता है. वह सबसे बड़ा शत्रु भी है और सबसे बड़ा मित्र भी, सोचिये क्या है वो?


What is Most Priceless

मैं बताता हूं - वह है समय यदि आप हर पल का सदुपयोग करेंगे तो वह सबसे अनमोल है, दुरूपयोग करेंगे या व्यर्थ करोगे तो वह सबसे सस्ता है क्योंकि इसे खरीदने के लिए कोई मुद्रा की आवश्यकता नहीं होती. व्यर्थ करेंगे तो हर पल मरता है परंतु हम सब के मर जाने के पश्चात भी यही है जो जीवित रहेगा. यही है जो यदि आपके साथ है तो आपका सबसे बड़ा मित्र है और यही यदि आपके विरुद्ध है तो आपका सबसे बड़ा शत्रु.


यह आप पर निर्भर करता है कि आप इसका उपयोग कैसे करते हैं आप इसे अनमोल बनाते हैं या इसे यू हीं नष्ट करते हैं, मित्र बनाते हैं या शत्रु, इसे हर पल जीते हैं या हर पल मरते हैं.

ध्यान रहे समय से बड़ा धन और कोई नहीं और इसका आभास मनुष्य को तब होता है जब उसका अंतिम समय निकट आ जाएं.

उम्मीद करते है आपको यह जानकारी पसंद आयी, इस पोस्ट को दूसरों के साथ भी शेयर करें, जय श्री कृष्णा
Share:

1 दिस॰ 2018

सफलता पाने के बाद श्रीकृष्ण का यह सन्देश याद रखें | After Success Message

After Success Message by Shri Krishna

जीवन में सफल कौन नहीं होना चाहता? पद और प्रतिष्ठा में आकाश जैसी उचाई किसे नहीं चाहिए? स्थिरता में भूमि जैसे दृढ़ता किसे नहीं चाहिए? सभी को चाहिए, है न?

after success message by shri krishna

परंतु सफलता का पुष्प अपने साथ अहंकार का कांटा भी लाता है, सफलता आपको आनंद देती है, उपलब्धि आपको गर्व देती और फिर यही आनंद धीरे-धीरे अहंकार में परिवर्तित हो जाता है फिर अतिक्रमण में और अंततः अन्याय में और यही सफलता का नाश प्रारंभ हो जाता है.

यदि आप चाहते हैं कि आपकी सफलता लोगों की दृष्टि में सम्मान बन कर रहे, लोगों के मन में शूल बनकर नहीं तो ये आप वृक्ष से सीखिए. फलों से लदने के पश्चात वह झुक जाता है उसी प्रकार सफलता मिलने पर विनम्रता अधिक आवश्यक है और जीवन में अधिक सफलता पाने के लिए या पाने पर और अधिक विनम्र हो जाना चाहिए
Share:

29 नव॰ 2018

Sunny Deol की Bhaiaji Superhit ने Box office में कितनी कमाई की?

सुपर स्टार सनी देओल 2008 के बाद बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में फिर से एंट्री कर चुके हैं. पिछले कुछ सालों से सनी देओल की फिल्में बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा कमाई तो नहीं कर पा रही है लेकिन सनी देओल की लोकप्रियता उनके फैन्स के बीच में अभी भी कम नहीं हुई है जिसका एक बढ़िया सा उदाहरण यह है कि सनी देओल की छोटे बजट की फिल्में भी अच्छी कमाई कर जाती है.

Sunny Deol की Bhaiaji Superhit  ने Box office में कितनी कमाई की?
वैसे सनी देओल एक्शन के मामले में पूरे बॉलीवुड के हर सभी हीरो से आज भी बेहतर माने जाते हैं. सनी देओल का वो ढाई किलो का हाथ वाला डायलॉग तो जैसे अमर ही हो गया. अभी हाल ही में सनी देओल ने एक इंटरव्यू में बताया वो कभी भी फिल्म की स्क्रिप्ट नहीं पढ़ते हैं. सनी देओल स्क्रिप्ट पढ़ने की जगह फिल्म की कहानी और उसकी थीम सुनते हैं और अगर उन्हें फिल्म की कहानी और थीम पसंद आती है तभी सनी देओल उस फिल्म में एक्टिंग करने के लिए राजी होते हैं.

इस साल 2018 में सनी देओल की तीन फिल्मे आयी जिसमे पहली फिल्म यमला पगला दीवाना फिर से सनी देओल के साथ साथ उनके पापा धर्मेंद्र, भाई बॉबी देओल और कृति खरबंदा भी नजर आयी थी. इसके अलावा फिल्म में सलमान खान का कमियो था. इन सब के अलावा फिल्म में रफ्ता रफ्ता गाने का मेलोडी वर्जन भी था लेकिन इन सब के बावजूद यह फिल्म पूरी तरह से फ्लॉप हो गयी.

इसके बाद सनी देओल की इसी महीने महौल्ला अस्सी और भैयाजी सुपरहिट नाम से दो फिल्में आयी. पहली फिल्म मोहल्ला अस्सी में तो सनी देओल बनारस के पंडित बने हुए हैं. दूसरी फिल्म भैया जी सुपरहिट फिल्म में सनी देओल का पुराना एक्शन सुपरस्टार एक्शन सुपरस्टार माचो मैन वाला लुक नजर आ रहा है. इस फिल्म में सनी देओल के साथ प्रीति जिंटा, अमीषा पटेल, अरसद वारसी श्रेयस तलपड़े और संजय मिश्रा मुख्य किरदार में नजर आ रहे हैं.


सनी देओल की छोटे बजट की फिल्म भले ही जमकर न कमाई कर रही हो लेकिन फिल्में दर्शकों को खूब पसंद आ रही है. फिल्म भैया जी सुपरहिट का बजट लगभग 20 करोड़ के आसपास का है लेकिन इस फिल्म ने अपनी रिलीज के पहले ही दिन डेढ़ करोड़ की कमाई की इसके बाद दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें दिन क्रमशः 1.8, 1.9, 2.1 और 2.5 करोड़ के आसपास की कमाई की, बॉक्स ऑफिस के ट्वीट के मुताबिक इस फिल्म ने अपनी रिलीज के छठे दिन 2.1 करोड़ की कमाई की है.
Share:

27 नव॰ 2018

ज़िन्दगी जीना सिखा देगी यह पोस्ट

आज मै आपके साथ शेयर करने जा रहा हु अपने कुछ खास अनुभव जो मैंने अपनी जिंदगी से सीखें है.
आप किसी को खुद से प्यार करने के लिए मजबूर नहीं कर सकते बस आप यह कर सकते हैं कि आप ऐसे इंसान बन जाए जिसे प्यार किया जा सके.
चाहे मै जितनी भी परवाह कर लूं कुछ लोग बदले में परवाह नहीं करते.
विश्वास बनाने में सालों लग जाते हैं और तोड़ने में बस कुछ सेकंड.
दूसरे लोग जो हमसे बेहतर हैं हमें उनसे अपनी तुलना नहीं करनी चाहिए.
हम जो व्यक्ति बनना चाहता हूं उसमें काफी समय लगता है.
कभी कबार आप के गिरने पर जिन लोगों से आप लात मारने की उम्मीद करते हैं वही लोग आपको फिर से उठने में मदद करते हैं.
सच्ची दोस्ती बढ़ती ही जाती है दूर होने पर भी, सच्चे प्यार के लिए भी यही बात लागू होती है.
हार मानने के बाद भी आप लंबे समय तक आगे बढ़ सकते हैं बस आप में वह जुनून होना चाहिए.
या तो आप अपने नजरिए पर नियंत्रण रखते हैं या वह आप पर नियंत्रण रखता है.
चाहे कितनी बुरी तरह आपका दिल क्यों ना टूटे, दुनिया आपके दुख के लिए रूकती नहीं है.
धनवान वह नहीं होता जिसके पास सबसे ज्यादा पैसा होता है बल्कि वह होता है जिसकी जरूरत है कम होती है.
हमें दोस्त बदलने की जरूरत नहीं पड़ती अगर हम यह समझ जाए कि दोस्त बदलते नहीं.
2 लोग एक ही चीज को देखकर कुछ अलग महसूस कर सकते हैं और अलग अनुमान लगा सकते हैं.
अपने जीवन में जिन लोगों की आप सबसे ज्यादा फिक्र करते हैं वह आपसे बहुत ही जल्दी दूर हो जाते हैं या फिर छीन लिए जाते हैं.
और आख़िर में मैं एक लाइन कहना चाहूंगा कि सीखा है मैंने कि लोग यह भूल जाएंगे कि आपने क्या कहा और लोग यह भी भूल जाएंगे कि आपने क्या किया है लेकिन लोग यह कभी नहीं भूलेंगे कि आपने उन्हें कैसा महसूस करवाया है.
Share:

26 नव॰ 2018

मौन रहना अच्छा है या बुरा श्रीकृष्ण का सन्देश | Krishna Quotes

मौन रहना अच्छा है या बुरा श्रीकृष्ण का सन्देश | Krishna Quotes

आप ने अपने जीवन में एक कहावत तो सुनी ही होगी? “एक चुप सौ को हराए” सुनी है ना? इसीलिए कई बार हम जीवन में चुप रह जाते है क्योंकि यह सत्य है की एक मूर्ख के लिए मौन रहने से अच्छा उत्तर और कुछ भी नहीं हो सकता परंतु क्या जीवन में सदा सदा चुप रहना ठीक है? जहां पाप बढ़ रहा हो? छल हो रहा हो वहां मौन रहने से अधिक गंभीर अपराध और कुछ नहीं हो सकता.

Krishna Quotes

मौन रहकर हो सकता है आप कुछ समय समस्या से बच जाएँ लेकिन ऐसा करके आप संसार को समस्याओं में उलझा देते है इसलिए इतिहास साक्षी है पापियों के उदंडता ने संसार को इतनी हानि नहीं पहुचायीं जितना कि सज्जनों के मौन ने पहुचायीं है.

यदि कोई मूर्ख बोल रहा है तो मौन रहना उचित है परंतु यदि कहीं अपराध हो रहा है, छल हो रहा है तो उठिए और विरोध कीजिये क्योकि आप भले ही न सही परंतु आपकी आने वाली पीढ़ी इस पाप के दंड को अवश्य सहेगी.
Share:

25 नव॰ 2018

शब्दों की ताकत पर श्रीकृष्ण का सन्देश | Krishna Quotes

शब्दों की ताकत पर श्रीकृष्ण का सन्देश | Krishna Quotes

संसार में सबसे अधिक घाव किससे हो सकता है? इंद्र के वज्र से या विष्णु के चक्र से या भीम की गदा से? जवाब है इनमे से किसी से नही.

Krishna Quotes

सबसे अधिक घाव यदि कोई पहुंचा सकता है तो वह है हमारे शब्द, हमारे वचन यदि शब्दबाण अस्त्र हैं तो जुबान उसे चलाने का यंत्र है. शब्द चाहे तो अमृत बनकर आप को जीवनदान दे सकते हैं या फिर घ्रणा की विष बनकर आपके जीवन को पीड़ादाई बना सकते हैं.

यह शब्द ही हैं जिनके भाव का किसी भी वैध के पास कोई उपचार नहीं इसलिए जो वस्तु जितनी घातक होती है वही वस्तु उतनी ही अमूल्य होती है और वचन सबसे अमूल्य होते हैं इसलिए मीठी बोली बोलने का प्रयास कीजिए.

उम्मीद करते है आपको यह जानकारी पसंद आयी, इस पोस्ट को दूसरों के साथ भी शेयर करें और ऐसे ही श्रीकृष्ण के सन्देश और अन्य प्रेरणादायक पोस्ट के लिए हमें बुकमार्क जरूर करें. जय श्री कृष्णा
loading...
Share:

19 नव॰ 2018

सिंधी कौन होते हैं और नाम के पीछे आनी क्यों लगाते हैं? | Detail about Sindhi community

Detail about Sindhi community

दोस्तों इस पोस्ट में हम बात करेंगे भारत के Sindhi community के बारे में, दोस्तों भारत में तकरीबन 38 लाख Sindhi लोग रहते है. सिंध क्षेत्र या सिंधु घाटी में रहने वाले लोगों को सिंधी कहा जाता था जो स्थान आज पाकिस्तान में है. Sindhi लोग भी बाकी नॉर्थ इंडियंस की तरह इंडो आर्यन होते हैं.

Detail about Sindhi community

प्राचीन काल से हिंदू और बौद्ध धर्म सिंधियों का प्रमुख धर्म रहा है पर सातवीं शताब्दी में और उसके बाद सिंध में काफी बड़ी तादात में इस्लामिक आक्रमणकारी आए तब Sindhi community की आधी से ज्यादा पॉपुलेशन को मजबूरन इस्लाम अपनाना पड़ा. वैसे तो सिंधी हांगकांग, मलेशिया और अमेरिका में भी रहते हैं पर Sindhi community की सबसे ज्यादा पापुलेशन पाकिस्तान में रहती है जो कि करीब करीब मुस्लिम है.

यह भी पढ़े - सम्मान के महत्त्व पर श्रीकृष्ण का सन्देश | Importance of Respect

1947 में विभाजन के बाद पाकिस्तान से बड़ी मात्रा में हिंदू Sindhi और सिख भारत आए जिन्हें भारत में दिल्ली, मुंबई, अजमेर और बेंगलुरु जैसे शहरों में बड़ी मात्रा में बसाया गया. ज्यादातर देखा जाता है कि Sindhi community के लोग सिख और हिंदू दोनों धर्मों का अनुसरण करते हैं. संत झूलेलाल सिंधियों के इष्टदेव यानी sindhi god होते हैं और उनके जन्मदिन को चेटीचंड (cheti chand) के रूप में मनाया जाता है. चेटीचंड सिंधियों का प्रमुख त्यौहार होता है.

ज्यादातर Sindhi अपने नाम के पीछे “आनी” लगाते हैं जिसका मतलब अंश होता है. यह sindhi caste surname सिंधियों के मूल के बारे में बताते हैं यानी सिंधियों के पूर्वजों की उत्पत्ति के स्थानों को बताते हैं. इसके अलावा भी बहुत से sindhi caste surname होते हैं जैसे भाटिया, अरोड़ा, खत्री और मखीजा. पापड़ सिंधियों के भोजन का प्रमुख हिस्सा होता है कहा जाता है कि सिंधी लोग विभाजन के वक़्त अपने साथ पापड़ लेकर आए थे जिसने बुरे समय में उनका पेट भरने का काम किया.

यह भी पढ़े - खुश रहो लेकिन कभी संतुष्ट मत रहो - ब्रूस ली

तो दोस्तों यह थी भारत के Sindhi community की एक छोटी सी कहानी, अगर पोस्ट पसंद आयी तो दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।
Share:

LIKE US ON FB