A Hindi Blog About Motivation,Earn Money Online and New Technology

9 Nov 2017

मुद्रा बैंक योजना क्या है और लोन कैसे मिलता है पूरी जानकारी हिंदी में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 अप्रैल 2015 को नई दिल्ली में मुद्रा बैंक यानी माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी की शुरुआत की यह योजना छोटे व्यापारियों को मदद देने के लिए बनाई गई है। मुद्रा बैंक युवा, शिक्षित और  प्रशिक्षित उद्यमियों यानी Trained Entrepreneur को मदद देने के लिए बनाई गई है।


आइये अब  मुद्रा योजना के उद्देश्य के बारे में जानते हैं। इस योजना के तहत छोटे उद्योग आसानी से बैंक से लोन पा सकेंगे इसमें बहुत कम ब्याज पर लोन मिलेगा हर कोई व्यक्ति जिसने Partnership Firm बनायीं है या फिर वो कोई छोटी Manufacturing Unit चलाता है उसे प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आसानी से सस्ती दरों पर लोन मिल सकेगा। खासकर छोटे दुकानदारों, फल और सब्जी विक्रेताओं, सैलून चलाने वाले युवाओं, ढाबा चलाने वालों, मैकेनिक, ब्यूटी पार्लर, ट्रांसपोर्ट, ट्रक ऑपरेटर, कर्ज सहायता समूह, प्रोफेशनल और सर्विस प्रोवाइडर को इससे लोन मिलेगा।


प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत उद्योग संबंधी प्रशिक्षण व्यापार की छोटी-छोटी बातें भी बताई जाएंगी जिससे की छोटे उद्योग अपने व्यापार को बड़ा सके। माना जा रहा है की मुद्रा बैंक से देश भर में करीब 5.77 करोड़ माइक्रो, मध्यम और स्मॉल बिजनेस को लोन मिल सकेगा वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2015 के आम बजट में इसकी घोषणा करते हुए इसके लिए 20000 करोड़ रूपये का आवंटन किया था साथ ही 3000 करोड़ रूपये का आवंटन क्रेडिट गारंटी फण्ड के रूप में किया गया है।


आखिर मुद्रा बैंक बनाने की जरूरत क्यों पड़ी

छोटे उद्योगों को बैंक से मदद आसानी से नहीं मिलती है कई उद्योग बैंकों के नियमो को पूरा करने में असमर्थ थे जिस से कई छोटे उद्योग पैसे की कमी के कारण बंद हो जाते थे क्योंकि वह अपना व्यापार चलाने में असमर्थ थे इसके लिए मुद्रा बैंक योजना शुरू की गई है जिसका मुख्य लक्ष्य छोटे उद्योगों को वित्तीय मदद देना तथा देश के पढ़े-लिखे नौजवानों के हुनर को मजबूत धरातल देना और महिलाओं को सशक्त बनाना है ताकि वह अपना व्यापार प्रारंभ कर सकें। सरकार का मानना है कि बड़े उद्योग कम लोगों को रोजगार देते हैं परंतु छोटे उद्योग बहुत बड़ी जनता को रोजगार उपलब्ध कराते हैं अगर ऐसे लघु उद्योगों को आर्थिक मदद उपलब्ध कराई जाए तो उनकी उन्नति के साथ साथ रोजगार के अवसर भी उत्पन्न होंगे।


मुद्रा योजना के अनुसार 3 प्रकार से लोन मिलेगा -

पहला शिशु जिसमे 50000 रूपये तक का लोन शामिल है, दूसरा किशोर इसमें 50000 से 5 लाख तक का लोन शामिल है, तीसरा तरुण जिसमें 5 से 10 लाख तक का लोन शामिल है।


कैसे मिलेगा मुद्रा लोन

मुद्रा योजना का लाभ लेने के लिए आप अपने नजदीकी बैंक से संपर्क कर सकते है और साथ ही आप किस लिए लोन लेना चाहते हैं यह कारण भी साफ होना चाहिये।

अभी तक हमने जाना की मुद्रा योजना क्या है आइये अब जानते है की मुद्रा योजना के क्या लाभ है।

1 - भारत में बेरोजगारी एक मुख्य समस्या है भारत में बहुत से ऐसे नौजवान है जिनके पास हुनर तो है पर पैसे की कमी है और वो बेरोजगार बैठे है। मुद्रा योजना के तहत वो लोन लेकर अपना व्यापार शुरू कर सकते हैं साथ ही और लोगों को भी रोजगार दे सकते हैं इससे बेरोजगारी की समस्या दूर हो सकती है।

2 - मुद्रा बैंक योजना के तहत ऐसे उद्योग जो पूंजी की कमी के कारण नही चल पा रहे थे या अपना व्यपार सही से नही कर पा रहे थे उनकी पूजी की कमी को पूरा किया जाएगा ताकि वे अपना व्यापार बढ़ा सकें।

3 - इस योजना के कारण छोटे व्यापारियों का होसला बढेगा, उनमे प्रतियोगिता की भावना उत्पन्न होगी जिससे देश का आर्थिक विकास होगा।

4 - छोटे उद्योगों को बढ़ावा देने से देश का पैसा देश में ही रहेगा और देश का विकास होगा।

मुद्रा बैंक योजना की सोच बांग्लादेश के प्रोफेसर और नोबेल प्राइज विजेता मोहम्मद यूनुस की है जिसे उन्होंने वर्ष 2006 में लागू किया था जिसके कुटीर उद्योग का विकास हुआ जिसके बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी मोहम्मद यूनुस की प्रशंसा की गई।


दोस्तों आशा करते है मुद्रा बैंक योजना की यह जानकारी आपके काम आएगी, अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

You May Also Like
loading...

Tags-
#Mudra Bank Yojna
#मुद्रा बैंक योजना
Share:

0 comments:

Post a Comment

LIKE US ON FB