28 Jul 2016

ग्लाश निचे रख दीजिये - Hindi Motivational Story

ग्लाश निचे रख दीजिये - Hindi Motivational Story

एक प्रोफेसर अपनी क्लास में एक ग्लास के साथ पहुचे जिसमे थोड़ा पानी भरा हुआ था। उन्होंने उस पानी से भरे हुए ग्लास को अपने हाथ से ऊपर उठा कर सभी को दिखाया और अपने छात्रों से पूछा "आपको क्या लगता है इस ग्लास का वजन क्या होगा?"


वहाँ बैठे छात्रों ने अलग अलग जवाब दिए किसी ने कहा 50 ग्राम, किसी ने 100 ग्राम और किसी ने 150 ग्राम तब प्रोफेसर ने कहा "मै नही जानता की इस ग्लास का वजन कितना है लेकिन मै ये पूछना चाहता हु क्या होगा अगर मै इस ग्लास को कुछ और देर ऐसे ही हाथ में पकड़कर खड़ा रहू?

छात्रों ने जवाब दिया "सर कुछ नही"

प्रोफेसर - "अच्छा और अगर इसी ग्लास को मै पुरे 1 घंटे तक अपने हाथ में पकड़ कर खड़े रहू तब क्या होगा?"

"आपका हाथ दर्द करने लगेगा सर" छात्रों में से एक छात्र ने जवाब दिया।

प्रोफेसर - "बिलकुल सही और क्या होगा अगर मै इस ग्लास को पूरा दिन हाथ में पकड़ कर उठाये रहू?"

"आपका हाथ सुन्न पड़ जाएगा और दर्द होने लगेगा और हो सकता है आपको अस्पताल भी जाना पड़ जाये" छात्रों में से एक छात्र ने जवाब दिया और क्लास में उपस्थित सभी छात्र हँसने लगे।

प्रोफेसर - "बहुत अच्छे लेकिन मुझे ये बताओ ग्लास को कुछ देर पकड़ने में, 1 घंटे पकड़ने में या पूरा दिन पकड़ने में क्या ग्लास में रखे पानी का वजन परिवर्तित हुआ"

सभी छात्रों ने जवाब दिया - "नहीं"

प्रोफेसर - "तो मेरे हाथ के सुन्न होने और हाथ में दर्द होने का कारण क्या था"

सभी छात्र सोच में पड़ गये।

प्रोफेसर - "अच्छा ये बताओ अब मुझे इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए क्या करना चाहिये"

एक छात्र ने जवाब दिया - "ग्लास को नीचे रख देना चाहिये"

प्रोफेसर - "सही कहा, हमारी जिंदगी की समस्याएँ भी बिलकुल ऐसी ही होती है अगर ये समस्याएँ आपके दिमाग में कुछ देर तक ही रहेंगी तब तो ठीक है लेकिन लम्बे समय तक रहेंगी तो सर में दर्द होने लगेगा और अगर इन्हें और ज्यादा देर तक अपने दिमाग में जगह दी जाये तो ये आपको बर्बाद कर देंगी और आप कुछ भी करने योग्य नही रहेंगे।

शिक्षा - समस्या का समाधान निकालने के लिए उसके बारे में सोचना जरूरी है लेकिन उसके लिए इतना चिंतन भी मत कीजिये की वो आपके लिए हानिकारक साबित हो। चाणक्य ने कहा है चिंता चिता के सामान होती है इसलिए इस बात को हमेशा याद रखिये आपकी जिंदगी में जो भी समस्या चल रही  है उसके बारे में सोचे लेकिन रात में सोने से पहले इसे बिलकुल भूल जाए क्योंकि आप जानते है अगर आप ज्यादा देर ग्लास हाथ में पकडे रहेंगे तो आपके हाथ को नुकसान हो सकता है।

यह भी पढ़े - How to be Happy in hindi

यह बात हमेशा याद रखें अगर आप समस्या में ध्यान देंगे तो आपको आपकी समस्या और बड़ी लगने लगेगी लेकिन यदि आप समस्या के समाधान में ध्यान देंगे और उस बारे में सोचेंगे तो देर सवेर आपको समस्या का समाधान मिल ही जाएगा।

यह भी पढ़े - अपने डर से कैसे जीते | Overcome Fear in hindi

Tags-
#inspirational story in hindi
#hindi inspirational story
#hindi motivational story
#हिंदी प्रेरणादायक कहानी

You May Like
loading...
Share:

0 comments:

Post a Comment