3 Jul 2016

दुखी लोगो की 5 आदतें

5 Habits of Unhappy People

5 Habits of Unhappy People

सुख और दुःख तो सभी के जीवन में होते हैं क्योकि ये जीवन का एक हिस्सा है लेकिन कुछ लोग अपनी कुछ आदतों के कारण हमेशा दुखी रहते है जबकि उनके पास खुस रहने के लिए ढेरों कारण होते है लेकिन वो अपने दुःख में इतना डूब जाते है की अपने आस पास की खुसियो को देख ही नहीं पाते। 




एक खूबसूरत वाक्य तो सायद आप सब ने सुना ही होगा "Problems तो है सबके साथ बस नजरिये की है बात"

किसी भी व्यक्ति के दुखी होने में उसकी परिस्थितियों और आस पास का माहौल तो मुख्य कारण होता ही है लेकिन उस व्यक्ति की आदतें भी काफी हद तक जिम्मेदार होती है उसके सुख या दुःख के लिए, आज मै आपके साथ दुखी लोगो की 5 मुख्य आदतें शेयर करने जा रहा हु अगर आपकी भी ऐसी कोई आदत है तो पहले उसे Accept कीजिये और फिर उस आदत को छोड़ दीजिये, खुसियो का रास्ता आपके जीवन के लिए खुल जाएगा। 

तो आइये जानते है 5 Habits of Unhappy People hindi में  -

1 - दुःख को Accept न कर पाना - 

दुःख और सुख हमारे जीवन का एक हिस्सा है जो किसी तरंग की तरह हमारे जीवन में चलता है कभी सुख तो कभी दुःख और हमे दोनों को स्वीकार भी करना चाहिये लेकिन दुखी रहने की यह सबसे बड़ी वजह है की हम दुःख को  Accept नहीं कर पाते। 

इस आदत से बचने के लिए आपको ये स्वीकार करना होगा की सुख और दुःख जीवन का हिस्सा है और ये दुःख भी ज्यादा देर नहीं रुकने वाला। अक्सर लोग दुःख आने पर घबरा जाते है लेकिन मै आपसे इतना ही कहूंगा की दुःख की परिस्थिति में घबराये नहीं और दुःख को सहने का सामर्थ्य बनाए रखें क्योकि दुःख के बाद सुख का आना निश्चित है। 

2 - भूत और भविस्य में जीना - 

दुखी लोग सदा ही भूत या भविस्य में रहते है और  वर्तमान में ध्यान ही नहीं दे पाते। इस Topic में मै पहले भी एक Article(How to be Happy in hindi) लिख चूका हू इसलिए यहाँ बस इतना ही कहना चाहूंगा की भूतकाल में जो बुरा हुआ उसे लेकर अपना आज बर्बाद मत कीजिये लेकिन भूतकाल से सबक जरूर लीजिए और न ही भविस्य की चिंता में इतना डूब जाइये की आज पर आपका ध्यान ही न रहे। In Short - जो गुजर गया उससे सीखिए , जो होने वाला है उससे मत घबराइये बस आज में रहिये। 

3 - अपनी तुलना दूसरों से करना -

दुखी लोग हमेशा अपनी तुलना दूसरे से करते है और अपने आप को कोसते  रहते है लेकिन वो यह नहीं जानते की इस संसार में हर किसी के पास कुछ ख़ास Talent होता है हर किसी के अंदर कुछ न कुछ कला है जरूरत है तो उसे पहचानने की, जो लोग अपनी इस प्रतिभा को पहचान जाते है और उस पर अपना सारा ध्यान लगाते है वो सफल लोगो में गिने जाते है और जो नहीं पहचान पाते वो सामान्य लोगो में गिने जाते है।



आप इस दुनिया में किसी ख़ास कारण से आये है उस कारण को पहचानने की कोशिश करे युँ ही अपनी ख़ास जिंदगी को व्यर्थ न गवाएं। अपने आप की तुलना किसी और से ना करे ये एक पाप है।

4 - हमेशा Negative सोचना - 

बहुत से लोगो की आदत होती है की वो जब भी कोई नया काम करते है तो उसके Negative Points पहले गिनने लगते है या किसी को राय देने में भी Negative Points गिनाने लगते है जबकि उनके पास Positive Points गिनने का भी Option रहता है।

अगर आप किसी काम को करने से पहले ही Negative सोचने लगेंगे तो उस काम को पुरे मन से कैसे कर पाएंगे। इसलिए जो आप करना चाहते है उसके लिए Positive सोचना शुरू कीजिये उसका परिणाम जो भी हो इस बात से आपको कोई फर्क नहीं पड़ना चाहिये।

5 - लोग क्या कहेंगे इस बात की परवाह करना - 

संदीप महेष्वरी की एक बात - "सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग" को मै हमेशा ध्यान रखता हू। दुखी रहने वालो की ये आदत होती है की वो लोग क्या कहेंगे इस बात की सबसे ज्यादा परवाह करते है और इसी कारण वो उन कामों को करने की कोशिश ही नहीं करते जिसमे उन्हें असफल होने का डर होता है। 

ये आपकी अपनी लाइफ है आप जो करना चाहते है करे, लोग क्या कहेंगे इस बात की परवाह करना छोड़ दीजिये। एक सर्वे के अनुसार 95% लोग इसलिए असफल हो जाते है क्योकि वो कभी Try ही नहीं करते जो वो करना चाहते है। अगर आप कुछ हट कर करेंगे तो लोग तो कुछ न कुछ बोलेंगे ही क्योकि ये उनकी समझ से परे है लेकिन आप अपना काम करते रहिये। 



तो ये थी दुखी लोगो की 5 आदतें जिससे आपको सदा बचना चाहिये, अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी तो इसे दूसरों के साथ शेयर करना न भूले।

You May Like
loading...

Tags - 
#habits of unhappy people in hindi
Share:

0 comments:

Post a Comment