24 Feb 2014

Microsoft bought nokia, Why nokia fail?


amitdotcom.blogspot.com
नमस्कार दोस्तों कैसे हो आप सभी , आज मै लिखने जा रहा हुँ microsoft and nokia के बीच हुई deal के बारे में शायद आप सब ही जानते होंगे कि microsoft और nokia के बीच डील हुई है और microsoft ने nokia को खरीद लिया है , पर क्या आप जानते हो microsoft ने nokia को 48934 करोड़ रुपयो में खरीदा है यानि कि 5 .44 बिलियन डॉलर में , डील के अनुसार
nokia पर microsoft का पूरा अधिकार मार्च 2014 तक होना है .

नोकिआ के पूर्व प्रबंधक निदेशक स्टीफन इलोप को माइक्रोसॉफ्ट के बोर्ड का सदस्य बनाया गया है microsoft ने डील में ये  भी माना है कि वो नोकिआ के 32000 कर्मचारी को भी microsoft में नौकरी देंगे!

WHY NOKIA FAIL ?

know why nokia fail?
Amitdotcom


1 - 1998 में मोबाइल फ़ोन के बाज़ार को देखे तो Total बाज़ार के 40 % भाग पर नोकिआ का कब्ज़ा था लकिन 2007  आते आते यह केवल 8 % ही बचा था .


2 - samsung और अन्य मोबाइल कम्पनियो ने जो तकनीक  use करी उसे आपनाने में NOKIA पीछे रह गया जैसे - डुअल सिम , स्मार्टफोन तथा अन्य तकनीक


3 - मेरे अनुसार मूख्य कारण यह था कि नोकिआ के फ़ोन केवल window operating system पर आधारित थे जबकि अन्य मोबाइल फोन निर्माता ने android तथा IOS का उपयोग किया और NOKIA पीछे होता गया .


CHALLENGES FOR MICROSOFT IN FUTURE -

Challenges for microsoft nokia in future


माइक्रोसॉफ्ट भले ही कितनी ही बड़ी कंपनी क्यों न हो , मोबाइल market में वो एक नयी कंपनी है अब माइक्रोसॉफ्ट ने एक और एलान किया है कि वो अपना पुराना operating system  symbian को close करने जा रहा है क्योकि वो अपना पूरा ध्यान window operating system में देना चाहता है . लकिन केवल window operating system पर आधारित हो के अन्य मोबाइल निर्माता कंपनी जैसे - सैमसंग , मिक्रोमैक्स और कार्बन को चुनौती देना काफी मुस्किल होगा . इसी बीच गूगल भी अब मोबाइल market में अपने ही android operating system के साथ उतर रहा है गूगल ने motorola को खरीद लिया है और एंड्राइड फ़ोन बना रहा है जो कि काफी famous को रहे है ये microsoft के लिए एक नयी चुनौती है .

आशा करता हुँ कि आपको ये लेख पसंद आया होगा , आपके विचारो  का स्वागत है कृपया इस लेख से आधरित अपने विचार यहाँ पोस्ट करे . कोई गलती हो तो माफ़ी चाहता हुँ .


धन्यवाद्

अमित त्रिपाठी 


Share:

0 comments:

Post a Comment