13 Feb 2017

नया Laptop लेने जा रहे है तो ये 6 बातें जरूर याद रखें

Things to Consider Before Buying a Laptop in Hindi

Things to Consider Before Buying a Laptop in Hindi

अगर आप नया Laptop लेने जा रहे है तो आपने उसके लिए कुछ Budget जरूर बनाया होगा और अगर आप Laptop, Smartphone या Desktop कुछ भी ले इसके लिए आपको अच्छी खासी कीमत भी देनी पड़ती है तो बेहतर होगा की कोई भी Technology Product लेने से पहले Research जरूर कर ले ताकि बाद में पछताना न पढ़े 

आज की इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे है वो 6 Important बातें जो नया Laptop लेने से पहले आपको जान लेनी चाहिये



1 - Warranty

Warranty किसी भी Technology Product के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है और अगर बात Laptop जैसे महंगे Product की हो तो Warranty लम्बे समय के लिए होना और भी ज्यादा जरूरी हो जाता है क्योंकि एक अच्छा Laptop लेने के लिए हमे अच्छी खासी कीमत चुकानी पड़ती है। 

आजकल लगभग सभी Companies अपने Product पर Warranty Offer करती है लेकिन कुछ Companies Warranty Period पूरा होने के बाद भी कुछ Amount लेकर Warranty Period बड़ा देती है इसलिए Laptop लेने से पहले इसके बारे में जरूर जान लें। 


2 - Laptop Memory

Warranty के बाद किसी Laptop की Storage और Memory सबसे ज्यादा जरूरी होती है। Laptop लेने से पहले उसकी Internal और External दोनों Memory अच्छे से पता कर लेनी चाहिये जिसमे Internal Memory तो बहुत ही ज्यादा जरूरी है। आप अपने Laptop पर कुछ भी काम करें Internal Memory की जरूरत आपको हर जगह पड़ेगी इसलिए Laptop लेने से पहले इसकी Internal Memory जरूर देख लें। 

3 - Screen Size

हर किसी के लिए Screen Size Adjustment अलग-अलग हो सकता है। अगर Laptop की स्क्रीन छोटी है तो आपकी आँखों में जोर पड़ेगा और ज्यादा देर तक Laptop के सामने बैठने पर सर दर्द भी हो सकता है लेकिन ज्यादा बड़ी Screen भी परेशानी का कारण बन सकती है क्योकि इससे आपके Laptop  का Weight ज्यादा हो  जाएगा इसलिए बेहतर होगा की Screen Medium Size की हो।



4 - Size and Weight

अगर बात Laptop की हो तो Size and Weight को कैसे Ignore किया जा सकता है? अगर आपको Travel करने के दौरान भी काम करना पड़ता है तो Size and Weight बहुत Important हो जाता है इसलिए Laptop का Weight कम होना चाहिये ताकि इधर-उधर ले जाने में कोई परेशानी न हो। 

5 - Processor and Graphics

Processor का अच्छा होना भी Computer के लिए बहुत जरूरी है अगर Processor सही नही है तो तो आपका Laptop Slow हो सकता है भले ही अच्छे Processor के लिए आपको कुछ Extra Money देनी पड़े लेकिन Processor के लिए Adjustment कभी न करें बेहतर होगा की आप पुराने i Series Processor के साथ ही जाये। 

अगर आप Computer Game खेलने या Video देखने के शौकीन है तो Computer के Graphic Features पर नजर जरूर डाल लीजिये। 


6 - Battery Life

Laptop का जिक्र हो और उसकी Battery की बात न हो ऐसा संभव नही है बहुत से लोग अपने Laptop की Battery के कारण बहुत परेशान होते है। अगर आपको ज्यादा Travel करना पड़ता है तो आपके Laptop की Battery Life अच्छी होना बहुत जरूरी है ताकि आपके काम में कोई रूकावट न आये। 

अगर आपको घंटो Computer में काम करना पड़ता है तो भी अच्छी Battery Life आपके लिए बहुत जरूरी है। 



तो ये थी कुछ जरूरी बातें जो आपको नया Laptop लेने से पहले जरूर देख लेनी चाहिये। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो Please इसे Share करना न भूलें आपके Share और Like करने से हमे और बेहतर करने की प्रेरणा मिलती है। 

Tags-
#Things to Consider Before Buying a Laptop in Hindi
#लैपटॉप की जानकारी
#Technology News Hindi

You May Also Like
loading...

6 Feb 2017

India में Bitcoin कैसे खरीदते और बेचते है

How to Buy or Sell Bitcoin in India Hindi Information

अभी कुछ दिन पहले मैंने एक पोस्ट लिखी थी जिसमे मैंने बताया था RevShare Sites से पैसे कैसे कमाते है। बहुत से लोग RevShare Sites या Earn Money Online Sites से पैसे कमाना चाहते है लेकिन वो नही जानते की इन Sites में BTC यानि Bitcoin को कैसे उपयोग किया जाये। इसलिए आज की इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे है India में Bitcoin कैसे खरीदते और बेचते है यानी How to Buy or Sell Bitcoin in India



तो आइये जानते है How to Buy or Sell Bitcoin in India - 

Step 1 - Unocoin.com Open करें - Click Here


Unocoin एक Registered Indian Website है जिससे आप Online BTC यानि Bitcoin खरीद या बेच सकते है। हलाकि Unocoin के अलावा भी कुछ Websites है जो आप Bitcoin Trading के लिए Use कर सकते है लेकिन Unocoin उपयोग करने में काफी आसान और सुरक्षित भी है। Unocoin Open करने के बाद इसमें Sign Up कर अपना Account बना लीजिये जो की बहुत ही आसान है। आपको यो भी Information मांगी जाये उसे आपको सही-सही भरना है जैसे आपकी बैंक अकाउंट जानकारी, Pan Card, Passport Size फोटो और कोई एक ID Proof ये सभी Documents Upload करने के बाद आपको Unocoin की तरफ से एक Verification Call आ सकता है जिसके बाद आपका Account Verify हो जाएगा। 

Step 2 - आपका Unocoin Wallet Address


आपका Unocoin Account Verify होने के बाद आपको एक Unique Unocoin Wallet Address दिया जाएगा जिसे आपको हर उस जगह देना है जहाँ से आप BTC अपने Unocoin Account में मंगाना चाहते है। Unocoin Wallet Address एक लम्बा Address होगा जो कुछ Alphabet और Numbers से मिलकर बना होगा। जैसे - BxaGf57Fhsinbgv6jssftBJKkd 

Step 3 - Unocoin से BTC कैसे खरीदें -

अब अगर आप किसी Online Earning site में BTC Invest करना चाहते है तो पहले आपके पास BTC होना चाहिये जो आप Unocoin से खरीद सकते है इसके लिए Unocoin Open करने के बाद Deposit पर जाएँ और जो भी Amount का आप BTC लेना चाहते है उसे दर्ज करें। याद रहे आप 1000 से कम Invest नही कर सकते। Amount Enter करने के बाद आपको Bank Detail दी जाएगी जहा आपको Money Send करना है जो आप Net Banking से NEFT या IMPS के द्वारा कर सकते है। Money Transfer करने के बाद आपको एक Refrence या RRN Number मिलता है इस Number को आपको Unocoin में दर्ज करना है ऐसा करने के कुछ देर बाद आपका Money आपके Unocoin Account में Deposit कर दिया जाएगा। 

Unocoin से BTC कैसे खरीदें


अब आपके पास Unocoin में INR Money उपलब्ध है अब आप मात्र एक Click से BTC खरीद सकते है इसके लिए आपको Buy Bitcoin पर Click करना है और BTC Buy करनी है। 



Step 4 - किसी Site में BTC Invest कैसे करें 

अब अगर आप किसी Online Earning Site में BTC के द्वारा Invest करना चाहते है या किसी को भी BTC भेजना चाहते है तो Send/Withdraw Bitcoin पर Click करें और जिसे BTC Send करना चाहते है उसका BTC Wallet Address डाले और जो भी BTC Amount send करना चाहते है Send करें। 

Step 5 - Bitcoin को अपने Bank Account में कैसे Withdraw करें 

अब अगर आपके Unocoin Account में BTC है और आप उसे Sell करना चाहते है तो आप उसे Unocoin में Sell कर पैसा अपने Bank Account में माँगा सकते है जो आपको INR यानि Indian Rupees में मिलेगा। याद रहे Withdraw के लिए भी Minimum Ammount 1000 INR है। Request करने के 24 Working Hours में आपको आपका पैसा आपके Bank Account में मिल जाता है। 



आशा करता हु दी गयी जानकारी आपके काम आयेगी Please इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा Share करें ताकि सभी BTC के लेनदेन के लिए जागरूक हो सके। 

Tags -
#bitcoin in hindi
#bitcoin mining india
#bitcoin hindi
#bitcoin news in hindi 
#bitcoin kaise kamaye 
#btc information in hindi 2017

You May Like
loading...

31 Jan 2017

हाथी और ज़ंजीर - Hindi Short Story With Moral

हाथी और ज़ंजीर - Hindi Short Story With Moral

Hindi Short Story With Moral

Hello दोस्तों कैसे है आप सब आज मै आपके साथ शेयर करने जा रहा हु अपने Facebook मित्र द्वारा भेजी गयी एक कहानी जो की बहुत ही प्रेरणादायक है। 

एक आदमी कहीं से गुजर रहा था, तभी उसने सड़क के किनारे बंधे हाथियों को देखा, और अचानक रुक गया. उसने देखा कि हाथियों के अगले पैर में एक रस्सी बंधी हुई है, उसे इस बात का बड़ा अचरज हुआ की हाथी जैसे विशालकाय जीव लोहे की जंजीरों की जगह बस एक छोटी सी रस्सी से बंधे हुए हैं!

ये स्पष्ठ था कि हाथी जब चाहते तब अपने बंधन तोड़ कर कहीं भी जा सकते थे, पर किसी वजह से वो ऐसा नहीं कर रहे थे। 


उसने पास खड़े महावत से पूछा कि भला ये हाथी किस प्रकार इतनी शांति से खड़े हैं और भागने का प्रयास नही कर रहे हैं ?

तब महावत ने कहा, ” इन हाथियों को छोटे पर से ही इन रस्सियों से बाँधा जाता है, उस समय इनके पास इतनी शक्ति नहीं होती की इस बंधन को तोड़ सकें. बार-बार प्रयास करने पर भी रस्सी ना तोड़ पाने के कारण उन्हें धीरे-धीरे यकीन होता जाता है कि वो इन रस्सियों नहीं तोड़ सकते,और बड़े होने पर भी उनका ये यकीन बना रहता है, इसलिए वो कभी इसे तोड़ने का प्रयास ही नहीं करते.”

आदमी आश्चर्य में पड़ गया कि ये ताकतवर जानवर सिर्फ इसलिए अपना बंधन नहीं तोड़ सकते क्योंकि वो इस बात में यकीन करते हैं!



शिक्षा - 
इन हाथियों की तरह ही हममें से कितने लोग सिर्फ पहले मिली असफलता के कारण ये मान बैठते हैं कि अब हमसे ये काम हो ही नहीं सकता और अपनी ही बनायीं हुई मानसिक जंजीरों में जकड़े-जकड़े पूरा जीवन गुजार देते हैं। इन काल्पनिक जंजीरों को तोड़ दीजिये और फिर से कोशिश कीजिये आज नही तो कल आपको सफलता जरूर मिलेगी।

अगर आपके पास भी ऐसी ही कोई शिक्षाप्रद कहानी है तो आप Facebook में संपर्क कर हमे वो कहानी भेज सकते है हम अपने ब्लॉग पर सभी के साथ उस शिक्षाप्रद कहानी को साझा करेंगे।

Tags -
#hindi short story with moral 
#hindi kahani 
#moral story for kids 
#inspirational story in hindi

24 Jan 2017

Republic Day Speech in Hindi

Speech on Republic Day in Hindi (गणतंत्र दिवस पर भाषण)

Republic Day Speech in Hindi

मै जानता हु हम सभी को भारत का नागरिक होने का गर्व है और होना भी चाहिये। हर साल पूरा देश मिलकर 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाता है। 

हमारा संविधान 26 नवंबर 1949 में बनकर तैयार हुआ था और इसे 2 महीने बाद यानि 26 जनवरी 1950 को पुरे देश में लागू कर दिया गया था। इस दिन के बाद भारत के सभी व्यक्ति समान थे चाहे वो किसी भी वर्ग का क्यों न हो और वही सरकार देश को चलाती है जिसे देश के लोग चुनते है। 



भारत का संविधान डॉ भीम राव अम्बेडकर द्वारा बनाया गया था। भारत का संविधान लागू होने से पहले देश में India Act, 1935 लागू था और संविधान के पूरी तरह बनने के बाद इसे India Act, 1935 की जगह लागू किया गया। 

तो इस तरह संविधान लागू होने के बाद भारत 26 जनवरी 1950 को एक संप्रभु, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक गणराज्य बन गया लेकिन शब्द 'समाजवादी' और 'धर्मनिरपेक्ष' पहले संविधान में मौजूद नहीं था इन्हें 1976 में संविधान के 42 वें संशोधन में जोड़ा गया। 

भारतीय संविधान के अनुसार हर व्यक्ति के कुछ मौलिक अधिकार और मौलिक कर्तव्य हैं। भारतीय संविधान के अनुसार भारत का प्रत्येक नागरिक कानून की नज़रों में समान है और किसी को भी धर्म, जाति, रंग आदि से पीड़ित नही किया जा सकता। 

ब्रिटिश शासन के दौरान दो महान हस्तियों महात्मा गांधी और रवींद्रनाथ टैगोर ने शांति, प्रेम, एकता और समानता का संदेश दिया, डॉ राजेंद्र प्रसाद आजाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति बने। 

भारत के लोग गर्व और सम्मान के साथ हर साल गणतंत्र दिवस बनाते हैं। कई लोग पुरे परिवार के साथ नए कपड़े पहन कर राष्ट्रीय गीत के साथ इस दिन की शुरुवात करते हैं। 



कई संगठनो और संस्थानों में गणतंत्र दिवस के दिन हाथ में तिरंगा लेकर परेड का आयोजन किया जाता है और देशभक्ति गीत गाये जाते हैं। 

नयी दिल्ली में सभी राज्यों के बीच सांस्कृतिक प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है जो बहुत ही शानदार होती है। 

गणतंत्र दिवस पर अधिकारित तौर पर छुट्टी होती है लेकिन सभी स्कूल में इस दिन परेड के दौरान देशभक्ति गीत गाये जाते है और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। 

तो आइये मिल कर देश के इस पर्व को मनाते है और देश में खुशियाँ और शांति लाते है आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। 



Tags - 
#republic day speech in hindi
#republic day essay
#republic day in hindi
#26 january speech in hindi
#speech on republic day in hindi
#26 january in hindi
#republic day in hindi short essay

You May Like
loading...

18 Jan 2017

Wi-Fi के 8 रोचक तथ्य जो शायद आपने पहले कभी न सुने होंगे

8 Interesting Facts of Wi-Fi जो शायद आपने पहले कभी न सुने होंगे

8 Interesting Facts of Wi-Fi जो शायद आपने पहले कभी न सुने होंगे

1 - Wi-Fi की Basic Technology के Founder Hedy Lamarr थे।

13 Jan 2017

तेनालीराम और बैंगन की सब्जी - Hindi Short Story With Moral

तेनालीराम और बैंगन की सब्जी - Hindi Short Story With Moral

Hindi Short Story With Moral

श्री कृष्ण देवराय विजयनगर के सम्राट थे। उनके 8 सलाहकार थे जिनमे से एक तेनालीराम भी था। तेनालीराम बहुत ही चालाक था। श्री कृष्ण देवराय के साम्राज्य में बैंगन का एक विशेष गार्डन था जिसमे उन्होंने बहुत से बैंगन लगाये थे। यह बैंगन बहुत ही स्वादिष्ट थे और उसकी सब्जी बहुत ही जायकेदार बनती थी। अब क्योंकि वह बैंगन बहुत ख़ास थे इसलिए सम्राट की इजाजत के बिना किसी को भी गार्डन में जाना मना था। 

एक बार सम्राट ने अपने सभी सलाहकारों के लिए एक सामूहिक रात्री भोजन का आयोजन किया और खाने में उन्ही विशेष बैंगन की सब्जी भी सलाहकारों को दी गयी। तेनालीराम ने भी बैंगन की सब्जी का लुफ्त उठाया और घर चला गया लेकिन वो उन बैंगन की सब्जी का स्वाद नही भूल पा रहा था। उसने अपनी पत्नी को भी उन स्वादिष्ट बैंगनो के बारे में बताया। तेनालीराम की पत्नी को भी बैंगन बहुत पसंद थे इसलिए उसने तेनालीराम से कुछ बैंगन घर ले कर आने को कहा ताकि वो भी घर में बैंगन की सब्जी बना कर उसका लुफ्त उठा सके लेकिन तेनालीराम जानता था की सम्राट अपने बैंगन के गार्डन की बहुत देखभाल करता है और अगर एक भी बैंगन गायब हुआ तो सम्राट को आसानी से पता चल जाएगा और वो बैंगन चुराने वाले को उसकी सजा भी देगा। 



लेकिन तेनालीराम की पत्नी ने उससे इस तरह बैंगन लाने की गुजारिस की ताकि किसी को इस बारे में पता न चल सके। अब तेनालीराम को लगा उसके पास चोरी से बैंगन लाने के अलावा और कोई विकल्प नही है। एक रात वो गार्डन में गया गार्डन की दीवार पार की और कुछ बैंगन तोड़ लिए, भगवान की दया से उसे किसी ने ऐसा करते हुए देखा नही और वो बैंगन चुरा कर घर वापिस आ गया। उसकी पत्नी ने बैंगन की सब्जी बनायी और वो बहुत स्वादिष्ट बनी। हर माँ की तरह उसकी पत्नी भी अपने बेटे को बहुत प्यार करती थी और चाहती थी की और वो भी स्वादिष्ट बैंगन की सब्जी का आनंद ले लेकिन तेनालीराम ऐसा नही चाहता था क्योंकि अगर उसका बेटा किसी को ये बात बता देता तो उसकी चोरी पकड़ी जाती और उसे बैंगन चुराने के जुर्म में सजा होती। 

लेकिन उसकी पत्नी नही मानी और वो किसी भी कीमत पर वो अपने बेटे जो की अपना होमवर्क पूरा करके छत पर सोया हुआ था को बैंगन की स्वादिष्ट सब्जी खिलाना चाहती थी उसे अकेले यह स्वादिष्ट बैंगन की सब्जी खाते हुए अच्छा नही लग रहा था। उसने तेनालीराम से कोई ऐसा रस्ता निकालने को कहा जिससे उसका बेटा भी स्वादिष्ट बैंगन की सब्जी खा सके। तेनालीराम भी अपने पुत्र को बहुत प्यार करता था इसलिए उसने बहुत सोचा और फिर उसे एक उपाय मिला उसने तुरंत पानी से भरी एक बाल्टी उठायी और छत पर चला गया जहा उसका पुत्र सोया हुआ था। उसने बाल्टी का पानी अपने पुत्र पर डाल दिया जिससे उसका पुत्र उठ गया, पुत्र के उठने परे उसने अपने पुत्र से कहा बारिश हो रही है नीचे चलो और चल कर खाना खाओ। नीचे जाने के बाद उसने अपने के पुत्र गीले कपड़े बदले और स्वादिष्ट बैंगन की सब्जी खाने को दी। उसके बाद ऊचे स्वर में अपनी पत्नी से बोला "बाहर बारिश हो रही है, इसे नीचे ही सुला दो"



अगले दिन सम्राट को पता चला की गार्डन से कुछ बैंगन गायब है। सम्राट ने यह बात बहुत ही गंभीरता से ली और उस आदमी को इनाम देने की घोषणा की जो चोर का पता लगाएगा। सम्राट के सलाहकारों में से एक सलाहकार को शक था की यह काम करने में केवल तेनालीराम ही सक्षम है और उसने सम्राट को यह बात बतायी। सम्राट ने दरबारियों को भेजा और तेनालीराम को तुरंत आने का बुलावा भेजा। जब तेनालीराम आया सम्राट ने उससे चोरी हुए बैंगन के बारे में पूछा, तेनालीराम बोला "मुझे चोरी हुए बैंगन के बारे में कुछ नही पता है" तब उस सलाहकार ने कहा "तेनालीराम झूट बोल रहा है उसके पुत्र को पूछताछ के लिए बुलाया जाये"

सम्राट ने दरबारियों को तेनालीराम के पुत्र को लाने को कहा जब तेनालीराम का पुत्र पहुचा तब सम्राट ने उससे पूछा "कल रात तुमने क्या खाना खाया था?" तेनालीराम के पुत्र ने जवाब दिया "बैंगन की सब्जी और वह बहुत स्वादिष्ट भी थी" यह सुनकर वो सलाहकार बोला "तेनालीराम अब तुम्हे अपना जुर्म कबूल कर लेना चाहिये" लेकिन तेनालीराम बोला कल रात उसका पुत्र बहुत जल्दी सो गया था और गहरी नींद में था हो सकता है ये जो कह रहा है ये सब उसने सपने में देखा हो। 

यह सुनकर सम्राट ने तेनालीराम के पुत्र से पूछा "क्या तुम बता सकते हो कल स्कूल से घर आने के बाद तुमने की क्या-क्या किया?"

तेनालीराम के पुत्र ने जवाब दिया "कल स्कूल से आने के बाद कुछ देर मैंने खेला इसके बाद मै छत पर गया अपना होमवर्क पूरा किया और फिर छत पर ही सो गया लेकिन जब बारिश शुरू हुई तो पिता जी मेरे पास आये और मुझे जगाया मेरे कपड़े पूरी तरह गीले हो चुके थे इसलिए निचे जाकर मैंने कपड़े बदले और फिर हम खाना खाकर सो गये"

वह सलाहकार अचंभित रह गया क्योंकि बीते हुए कल में बारिश हुई ही नही थी और मौसम पूरी तरह खुला था इसलिए उसने भी मान लिया की तेनालीराम का पुत्र जो कह रहा है वो उसने सपने में ही देखा होगा इस तरह तेनालीराम को छोड़ दिया गया। हलाकि बाद में तेनालीराम को लगा की यह गलत है और उसने स्वयं ही सारा सच सम्राट को बता दिया, सम्राट तेनालीराम की तीक्ष्ण बुद्धि से बहुत प्रभावित हुआ और उसे माफ़ कर दिया गया। 



शिक्षा - इस कहानी से हम आपको चोरी के लिए प्रेरित नही कर रहे क्योंकि चोरी किसी भी चीज की हो वो गलत है। इस कहानी से आपको यह शिक्षा मिलती है की परिस्थिति चाहे कितनी भी जटिल या विपरीत क्यों न हो अपनी तीक्ष्ण बुद्धि का प्रयोग कर आप ऐसी परिस्थिति से आसानी से निकल सकते है। 

Tags - 
#hindi short story with moral 
#hindi kahani 
#moral story for kids
#inspirational story in hindi

You May Also Like
loading...

29 Dec 2016

छोटे मेढ़क और बड़ा टावर - Hindi Short Story With Moral

छोटे मेढ़क और बड़ा टावर - Hindi Short Story With Moral

Hindi Short Story With Moral

जब आप नकारात्मक छोड़ सकारात्मक सोचना शुरू करते है तब आपको सकारात्मक परिणाम मिलना शुरू हो जाता है - Willie Nelson

एक बार बहुत से मेढको की एक Race (दौड़) आयोजित की गयी। Race में सभी मेढको को एक बड़े Tower में चढना था और जो मेढ़क सबसे पहले ये काम करता उसे विजेता घोषित होना था। मेढकों की दौड़ देखने के लिए टावर के आस-पास बहुत भीड़ जमा थी जो Race देखने और मेढकों को प्रोत्साहित करने पहुचे थे। 



Race शुरू हुई, वास्तव में भीड़ में से कोई भी ये विश्वास नही कर रह था की कोई भी मेढ़क इतने बड़े टावर में Top पर चढ़ कर Race पूरा कर पाएगा इसलिए वो चिल्लाने लगे "ओह्ह बहुत ही मुश्किल है कोई भी टॉप पर नही चढ़ पाएगा, कोई भी ताकत इन छोटे मेढको को टावर के टॉप में चढने में सफल नही कर सकती टावर बहुत ऊँचा है"

Race के दौरान मेढ़क एक-एक करके टावर से निचे गिर रहे थे और भीड़ के इस तरह चिल्लाने के बाद वो और कमजोर पड़ गये और तेज़ी से टावर से निचे गिरने लगे लेकिन सब मेढ़क में एकमात्र छोटा मेढ़क ऐसा था जो लगातार रफ़्तार के साथ टावर में ऊपर की तरफ बढ़ रहा था। भीड़ चिल्लाते रही "बहुत ही कठिन है कोई भी नही चढ़ पाएगा" और यह सुन कर कुछ और टावर में चढ़ते हुए मेढ़क निचे गिरने लगे। 

लेकिन वो एकमात्र मेढ़क बस चलता रहा, चलता रहा, चलता रहा और उसने हार नही मानी। 

अंत में सभी मेढ़क टावर से गिर गये एकमात्र उस मेढ़क को छोड़ कर जो रफ़्तार के साथ टावर पर चढ़ रहा था और अंत में वही छोटा मेढ़क टावर के Top पर पहुच गया और Race जीत गया। 



सभी दूसरे मेढ़क जानना चाहते थे की इस मेढ़क में ऐसा क्या था जो इसे हमसे अलग करता है हम भी इसके जैसे ही है लेकिन हम क्यों उस टावर में नही चढ़ पाए?

इसलिए एक मेढ़क ने विजेता मेढ़क से जाकर ये पूछना चाहा की उसने ऐसा कैसे किया और उस मेढ़क के पास जाकर उसे पता चला वह विजेता मेढ़क बहरा (Deaf) था। 

शिक्षा -
उन Negative बातों को, Negative लोगो को कभी मत सुनो जो आपके काम में बाधा डालते है और बोलते है की आप ये नही कर सकते। ये आपका सपना है इसे आपको खुद पूरा करना है बोलने वाले बोलते रहेंगे हमे उन्हें नही सुनना। 

हमेशा याद रखें जो हम देखतें है जो हम सुनते है उसका हमारे जीवन पर कहीं ना कहीं असर जरूर पड़ता है इसलिए हमेशा Positive बातें सुने जो आपको आपके सपनो की और अग्रसर करे। 



उन लोगो का साथ छोड़ दें जो आपके सपनों को पूरा करने में बाधा डालते है और जिन लोगो का साथ आप नही छोड़ सकते उनके लिए बहरे (Deaf) बन जाइये बिल्कुल उस मेढ़क की तरह जिसपर किसी की बातों का कोई असर नही पड़ता और सिर्फ अपना लक्ष्य नजर आता है। 

Tags -
#hindi short story with moral 
#hindi kahani
#hindi motivational stories
#inspirational story in hindi

You May Like
loading...